Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / ड्रमंडगंज/मिर्जापुर :-बेसहारा को नहीं मिला सरकारी सहारा, खुले खेत में हुयी डिलीवरी

ड्रमंडगंज/मिर्जापुर :-बेसहारा को नहीं मिला सरकारी सहारा, खुले खेत में हुयी डिलीवरी

Ibn24x7news रिपोर्ट
*सरकारी एम्बुलेंस ने भी नहीं उठाया फोन*
यह हकीकत घटना हलिया विकास खण्ड के ग्राम सेमरा कला रतेह चौराहा बाजार की है। एक बेसहारा जच्चा को शासन की कोई योजना मदद काम नहीं आयी। मध्य रात्रि में खुले खेत में तड़पते चिल्लाते हुए बच्चे को जन्म दिया। बताते चलें कि प्रिया नामकी यह महिला जबलपुर शहर की रहने वाली है। पेटपालन भूख मिटाने के लिए रतेह चौराहा बाजार में रह रही थी। दिनांक 6–7 की मध्य रात्रि में प्रसव पीड़ा शुरू हुई। उस वक्त कमरे में अकेले ही थी। दर्द शान्ति की आस में बाहर शौच के लिए खेत में गयी। जहां पर दर्द से बेहोश हो गयी होश आने पर चीख पुकार सुन बगल में किराए पर रह रहे शिक्षकों समूह सहायता के लिए सरकारी एम्बुलेंस को काल करते रहे, लेकिन फोन नहीं उठाया गया। लोकलाज के भय त्याग शिक्षकों का समूह मदद के लिए आगे बढा। किसी तरह एक स्थानीय महिला को सहयोग करने के लिए बुलाया गया। तथा उन्ही के सहयोग से एक स्थानीय चिकित्सक के सहयोग से भोर रात लगभग तीन बजे जच्चा द्वारा लड़के को जन्म दिया गया। शिक्षकों द्वारा स्थानीय चिकित्सक को सहयोग के लिए प्रोत्साहन राशि दी गई। इतना ही नहीं जच्चा के प्रसवोपरान्त उचित खान पान का भी मानवीय संवेदना के तहत चंदे से सहायता की गयी।
लेकिन सबसे दुखद पहलू स्थानीय लोगों में चर्चा का विषय है कि सरकारी एम्बुलेंस सुविधा किसके लिए है।इस संबंध में पीड़ित जच्चा द्वारा सरकारी योजना पर अफसोस व्यक्त किया है। वह तो यहां सौ नंवर तक को भी कोस दिया।

About IBN24X7NEWS

Check Also

मड़िहान : उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में सड़क किनारे बने नाली से हटवाया गया अतिक्रमण

उप जिला अधिकारी मड़िहान सुरेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में व खंड विकास अधिकारी दिनेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *