Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / बार एसोसिएशन का सबसे ज्यादा बुरा हाल है, ओ.पी.शर्मा

बार एसोसिएशन का सबसे ज्यादा बुरा हाल है, ओ.पी.शर्मा

बार एसोसिएशन का सबसे ज्यादा बुरा हाल है, ओ.पी.शर्मा

फरीदाबाद से बी.आर.मुराद की रिपोर्ट

फरीदाबाद : सेक्टर-12 लघु सचिवालय में सबसे बुरा हाल है न समाज की इज्जत और वकीलों की सुरक्षा है बस जो चुनाव जीता वहीं राजा बन रहे हैं |

समाज में सभा वर्गो व विभागों में लगातार चल रही गिरावट से सभी भली-भांति परिचित हैं लेकिन बार अधिवक्ता के संगठनों में लगातार गिरावट का माहौल जारी है अत्यंत भयंकर एवं सोचने की बात है कि पीडित व्यक्ति चाहे व देश के प्रधानमंत्री हों, या सेना के जनरल हो बडे़-बड़े पद से रिटायर्ड जैसे राष्ट्रपति या मुख्य न्यायाधीश व गवर्नर क्यों न हो,परेशानी या किसी मुसीबत के समय वकील से ही संपर्क करेगा | लेकिन अब केवल बार अपितु बार काउंसिल तक कानून को तोड़ने मरोड़ने व अपने ही बनाये हुए कानून की सरेआम धज्जियां उड़ाने में लगे हुए हैं | ताजी बात कही गई है कि फरीदाबाद बार एसोसिएशन का ही है |

जहां एक एक गुट ने शांतिपूर्ण चुनाव प्रक्रिया में व्यवधान डालने की कोशिश की है व प्रत्येक वर्ष की तरह बेलेट पेपर ना केवल प्रत्येक चुनाव अधिकारियों को संख्या से कम दिये गए | बल्कि 100 मत पत्रों की एक गड्डी गायब कर दी गई क्योंकि ताकि बाद में गैर कानूनी तौर पर प्रयोग कर सके | पर एक गुट द्वारा के अपने पैरों तले जमीन निकलती महसूस होने पर चुनाव प्रक्रिया में व्यवधान डालने के लिए बेशर्मी की हद तक पार की | लेकिन महिला वकीलों के द्वारा अभद्र नारे लगाए गए | उस समय अपने ही पद का गलत प्रयोग किया | एक पूर्व प्रधान जो इस बार एसोसिएशन के प्रत्याशी भी हैं उन्होंने अपनी जूनियर का केस को डिसमिस होने पर बार एसोसिएशन की स्ट्राईक करा दी |

उस दिन बार एसोसिएशन की आमदनी का खुल्लम-खुल्ला गलत तरीके से प्रयोग किया गया चैम्बरों में घोटाले का सबूत होने के बावजूद पुलिस प्रशासन व न्यायपालिका भी खामोश रही थी | अब अपनी स्वार्थी पूर्ति के लिए इस गुट के लोग यहां तक कि वकीलों को भी धमकाने से गुरेज नहीं करते हैं | वकीलों पर पुलिस प्रशासन द्वारा ज्यादती होने पर बार एसोसिएशन के पद अधिकारी वकीलों की बजाये पुलिस प्रशासन की मदद करते है ये सब बातें जाहिर होने पर वकीलों में रोष दिखाई दिया | अब ये घडियाली आंसू बहा रहे हैं, बार काउंसिल पंजाब व हरियाणा जो एक वैधानिक संस्था है अभी उनकी पूरी तरह मदद करने के लिए अपने ही बनाये हुए नियमों की धज्जी उड़ाने पर तुले हुए हैं |

पता चलता है कि बार काउंसिल दोबारा से पोलिग कराना चाहती है जबकि उसे ऐसा करने का कोई अधिकार नही है | इनकी लूट-खसोट से तंग आकर वकीलों ने इन्हें बुरी तरह पटकनी देने का मन बना लिया है | बार एसोसिएशन का चुनाव कमेटी ने 30 अप्रैल 2019 को दोबारा से मतदान करने का ऐलान कर दिया है |

तो वहीं एडवोकेट ओ.पी.शर्मा का कहना है कि बार काउंसिल और बार एसोसिएशन के काम में एक गुट गलत तरीके से बाज आ रहा है और साथ में बार की जिन बिल्डिंगों में वकील होने चाहिए थे वहां प्रोपाट्री डीलरों बैठे हैं और वकील बाहर टिन के नीचे बैठें हैं और पुलिस वकीलों को आए दिन धमकाने में लगी हुई है जबकि वकील खुद कोर्ट परिसर में अपने ही केस के ब्यान देने वाले को पेश करने जाए तो उनको भी पुलिस के जवान परेशान करते हैं कभी चालान काटते हैं तो कभी उल्टा सीधा बोलते हैं |

About IBN24X7NEWS

Check Also

बहराइच के रघुनाथपुर गांव में रोड हुआ सरोवर बारिश से

रिपोर्ट प्रीतम सिंह ibn24x7news मटेरा बजार बहराइच बहराइच जिले के रघुनाथपुर गांव में तेज बारिश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *