Breaking News
Home / मध्यप्रदेश / रायपुर/मध्यप्रदेश :- धान खरीदी केंद्रों में बढ़ रही भीड़, 75 लाख टन का आंकड़ा हो सकता है पार

रायपुर/मध्यप्रदेश :- धान खरीदी केंद्रों में बढ़ रही भीड़, 75 लाख टन का आंकड़ा हो सकता है पार

Ibn24×7nesw
रिपोर्ट – घासीराम पात्र

रायपुर:- धान के कटोरे में इस बार बंपर पैदावार हुई है। आलम यह है कि अभी सरकारी खरीदी में 23 दिन बचे हैं और अब तक लगभग उतना धान आ चुका है जितना पिछले साल कुल मिलाकर आया था। राज्य सरकार ने घोषणा की है कि इस बार 75 लाख मीट्रिक टन धान आ सकता है और उसी हिसाब से मार्कफेड को ज्यादा राशि देने की तैयारी की जा रही है।खाद्य मंत्री मोहम्मद अकबर ने 80 लाख मीट्रिक टन खरीदी की उम्मीद जताई है। मंत्रालय में अधिकारी भी उसी हिसाब से तैयारियों में लगे हैं। ज्ञात हो कि पिछले साल सरकार ने लगभग 58 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा था। इस बार अब तक करीब 53 लाख मीट्रिक टन धान आ चुका है। इस साल 15 दिन पहले एक नवंबर से ही खरीदी शुरू हो गई थी। शुरूआत में आवक कमजोर रही लेकिन चुनावी नतीजों के बाद खरीदी केंद्रों में लाइन लगने लगी। खाद्य विभाग के अफसरों का कहना है कि पिछली बार कम आवक की वजह सूखा रहा।

अधिकांश तहसीलें सूखे से प्रभावित थीं। इस बार खरीफ के सीजन में बीच में बारिश धोखा देती लगी जरूर लेकिन वक्त पर बादलों ने किसानों का साथ दिया। समय पर पानी मिल जाने से इस बार धान की पैदावार जमकर हुई है। इसी हिसाब से यह आकलन किया गया है कि इस बार पिछली बार की तुलना में करीब 20 लाख मीट्रिक टन धान अतिरिक्त आ सकता है।

बारदानों की कमी नहीं

खाद्य विभाग की प्रमुख सचिव ऋचा शर्मा ने बताया कि नियमानुसार हर साल आधे नए और आधे पुराने बारदानों का उपयोग किया जाता है। उन्होंने कहा कि बारदानों की कोई कमी नहीं है। हो सकता है कि किसी समय किसी केंद्र में बारदाने उपलब्ध न हों लेकिन जानकारी मिलते ही तुरंत बारदाना उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि करीब 17 करोड़ बारदाने की जरूरत होती है। अगर कहीं से अमानक बारदाने की शिकायत आती है तो हम तुरंत जांच करवाते हैं और बारदाने की दूसरी लॉट भेजते हैं।

जांच में सही पाए गए बारदाने

राजनांदगांव जिले से मिली अमानक बारदाने की शिकायत पर सरकार की सफाई आई है। बताया गया है कि अटलांटा कंपनी के सभी बारदाने मानक हैं। जूट कमिश्नर के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में जिला स्तरीय गुणवत्ता समिति ने बारदानों की जांच की। यह निर्देश दिए गए हैं कि अगर खरीदी केंद्र में अमानक बारदाने की शिकायत आती है तो केंद्र में ही पंचनामा कर उसकी जानकारी जिला विपणन कार्यालय को सूचित किया जाए। जांच पड़ताल के बाद ही बारदाने भेजे गए थे।

About IBN24X7NEWS

Check Also

इंदौर-गुपचुप तरिके से मोदी सरकार द्वारा ऑपरेशन ब्लू स्टार को सही करार देना सिख कौम के साथ विश्वासघात

रिपोर्ट कंवलजीत सिंह सैनी सिख एडवाइजरी कमेटी राजस्थान के कन्वीनर तेजिंदर पाल सिंह टिम्मा ने मोदी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *