Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / लखीमपुर खीरी :-लगभग एक माह से जेसीबी मशीन द्वारा अवैध खनन, शासन प्रशासन मौन

लखीमपुर खीरी :-लगभग एक माह से जेसीबी मशीन द्वारा अवैध खनन, शासन प्रशासन मौन

Ibn24x7news रिपोर्ट मोहम्मद असलम

सत्ता पक्ष के सफेदपोश व खनन माफिया तथा खनन अधिकारी सहित राजस्व अधिकारियो की अप्रत्यक्ष सहमति से मिट्टी खनन क्षेत्र में खुलेआम बेखौफ होकर धरती मां के सीने को छलनी कर रहे हैं सत्ता पक्ष की एक माननीय के वरदहस्त व चंद कागज़ के टुकड़ों के खातिर इन काले कारोबारियों के विरुद्ध कार्यवाही करने के बजाय इनका साथ निभाते देखे जा सकते हैं , जैसा कि पिछले दिनों 19 मार्च 2019 को गुलरिया क्षेत्र में गुलरिया चीनी मिल में बन रहे नये अल्कोहल प्लांट में मिट्टी पटाव के लिए गुलरिया क्षेत्र में जे सी बी द्वारा हो रहे जगह जगह अवैध खनन के बारे में उपजिलाधिकारी गोला से वार्ता की तो बताया कि यह मामला हमारे संज्ञान में नही था जैसे ही कोई खनन का मामला हमारे संज्ञान में आएगा ,उसकी जांच कर खनन माफियाओं के खिलाफ उचित कार्यवाही की जाएगी।
आज लगभग दो सप्ताह से गुलरिया चीनी मिल में मिट्टी पटाव जारी है, लेकिन आज तक प्रशासन द्वारा इस खनन पर कोई भी अंकुस लगा पा रहा है।प्रशासन खनन पर रोक लगाने में नकारा साबित हो रहा है। परिणाम स्वरूप सरकार की रोक के बावजूद उन्हीं की पार्टी को कुछ सफेदपोश धारी माननीय द्वारा मिट्टी खनन की साझेदारी लेकर अपने ही मुख्यमंत्री के आदेशों की थू–थू कराने में लगी है।माननीय खनन माफिया और खनन अधिकारी सहित कई थानेदार व चौकी प्रभारी मालामाल हो रहे हैं पर किसानों की जमीन की उर्वरा शक्ति क्षीण जरूर हो रही है प्रशासन की मुंह सहमति से जनपद के कई स्थानों पर खुलेआम अवैध तरीके से मिट्टी का खनन किया जा रहा है।
मामला कोतवाली भीरा के अंतर्गत गुलरिया चीनी मिल का है , जहाँ ठेकेदारो द्वारा मिट्टी खनन कर गुलरिया चीनी मिल में लाई जा रही हैं जो दिन रात ग्राम नौसर जोगी नहर के पास व गुलरिया रुद्रपुर के बीच से गुलरिया निवासी एक किसान के खेत से जेसीबी द्वारा मिट्टी खनन किया जा रहा है ये सब देखकर भी जुमेदार मौन है।

बाइट उपजिलाधिकारी गोला खीरी

About IBN24X7NEWS

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदिनाथ के कानूनों का उड़ा रहे धज्जियां जरवल कस्बा में चल रहे अवैध बूचड़खाने

ibn24x7news जरवल नगर पंचायत के मोहल्ला सराय मैं मेन मार्केट मैं घरों व दुकानों में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *