Breaking News
Home / बिहार / सिवान :-किसी फिल्मी स्टाइल की तरह हुई थी, सिवान एनडीए प्रत्याशी कविता सिंह की राजनीति में इंट्री

सिवान :-किसी फिल्मी स्टाइल की तरह हुई थी, सिवान एनडीए प्रत्याशी कविता सिंह की राजनीति में इंट्री

Ibn24x7news आर्यन सिंह राजपूत सिवान {स्पेशल रिपोर्ट}

दरअसल सिवान कई मायने में खास है। तभी तो सिवान जिला अक्सर चर्चा में रहता है। सिवान में 12 मई को चुनाव है और हम बात कर रहे हैं एनडीए प्रत्याशी कविता सिंह की शादी की। दरअसल आपको बता दें कि सिवान के दरौदा विधानसभा चुनाव में अजय सिंह की मां ने जेडीयू के सिम्बल पर चुनाव लडीं और जीत हासिल की। इसके कुछ दिन बाद अजय सिंह की मां दिवंगत जगमातो देवी की निधन हो गया। और इसके बाद दरौदा विधानसभा सीट खाली हो गया। जानकारों के माने तो अजय सिंह शादी नहीं कर रहे थे। लेकिन सीट खाली हो जाने के बाद वे मानवीय मुख्यमंत्री श्री नीतिश कुमार से टिकट के लिए पटना गए लेकिन माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें साफ शब्दों में टिकट देने से इंकार कर दिया। क्योंकि अजय सिंह पर कई संगीन आरोप लगे हुए थे और कई मामले दर्ज थे। इसके बाद नीतिश कुमार ने सलाह दिए कि अगर आप उप चुनाव में शादी कर लेते हैं तो आपकी जगह आपकी पत्नी को टिकट दिया जा सकता है और फिर क्या था।

अखबार में निकला था अजीबोगरीब शादी का विज्ञापन।

बताते हैं कि बाहुबली अजय सिंह के खिलाफ हत्या, अपहरण और जबरन वसूली के करीब 30 मामले दर्ज हैं। लिहाजा, उनके लिए लड़की ढूंढना आसान नहीं था। लिहाजा, अखबार में अजय सिंह से शादी करने के लिए एक विज्ञापन दिया गया। अपनी तरह के अजीब विज्ञापन में कहा गया था कि होने वाली दुल्हन का वोटर लिस्ट में नाम होना चाहिए, उसके पास मतदाता पहचान पत्र होना चाहिए, उसकी उम्र 25 साल से अधिक होनी चाहिए और राजनीतिक पृष्ठभूमि वाली लड़की को वरीयता दी जाएगी।

पितृपक्ष में हुई थी अजय सिंह और कविता की शादी

आखिर में 16 लड़कियों में से कविता का चयन किया गया। परा-स्नातक की छात्रा कविता सिंह छपरा की जेपी यूनिवर्सिटी की छात्रा थी। जल्द ही परिवारजनों के सामने पितृ -पक्ष में अजय सिंह की शादी कविता के साथ संपन्न कर दी गई।

बताते चलें कि यह 15 दिनों का ऐसा समय होता है, जिसे हिंदू लोग शुभ कार्यों के लिए उपयुक्त नहीं मानते हैं। इसके बाद उन्हें उप चुनाव के लिए टिकट मिली और वह पर्याप्त संख्या में मतों से जीतीं और साल 2011 में बिहार विधानसभा की सबसे कम उम्र की सदस्य बनीं।

फिर से 2015 में भी कविता को जेडीयू ने दरौंदा सीट से ही टिकट दिया और वो फिर चुनाव जीत गईं। अजय सिंह की छवि इलाके में डॉन की है और उनपर हत्या, अपहरण समेत करीब तीस संगीन मामलों में आरोप हैं।

इस बार कविता सिंह जदयू के टिकट पर सिवान सीट से उम्मीदवार बनायी गई हैं और उनका मुकाबला मोहम्मद शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब से है। सिवान सीट पर इलाके दोनों बाहुबली की पत्नियां इस बार लोकसभा चुनाव मैदान में हैं। देखना होगा कि सिवान की जनता इस बार लोकसभा चुनाव में किसे चुनती है?

About IBN24X7NEWS

Check Also

सिवान ;-बाइक सवार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी

IBN24X7NEWS सिवान के रामराज्य मोड़ के समीप बाइक सवार अपराधियों ने एक युवक को मारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *