Breaking News

श्रीमद् देवी कथा सुनने मात्र से ही मिलता है मोक्ष-पुष्पांजलि दीदी नवमी को 15 महिलाओं को मां दुर्गा शक्ति अवार्ड से किया सम्मानित

रिपोर्ट कपिल यादव ibn24x7news बरेली

फतेहगंज पश्चिमी बरेली।मां दुर्गा जी की नौवीं शक्ति का नाम सिद्धिदात्री हैं।ये सभी प्रकार की सिद्धियों को देने वाली हैं। नवरात्रि-पूजन के नौवें दिन इनकी उपासना की जाती है।इस दिन शास्त्रीय विधि-विधान और पूर्ण निष्ठा के साथ साधना करने वाले साधक को सभी सिद्धियों की प्राप्ति हो जाती है।सृष्टि में कुछ भी उसके लिए अगम्य नहीं रह जाता है।ब्रह्मांड पर पूर्ण विजय प्राप्त करने की सामर्थ्य उसमें आ जाती है। मां सिद्धिदात्री भक्तों और साधकों को सभी सिद्धियां प्रदान करने में समर्थ हैं।देवीपुराण के अनुसार भगवान शिव ने इनकी कृपा से ही इन सिद्धियों को प्राप्त किया था।इनकी अनुकम्पा से ही भगवान शिव का आधा शरीर देवी का हुआ था।इसी कारण वे लोक में ‘अर्द्धनारीश्वर’ नाम से प्रसिद्ध हुए।मां सिद्धिदात्री चार भुजाओं वाली हैं।इनका वाहन सिंह है।ये कमल पुष्प पर भी आसीन होती हैं।इनकी दाहिनी तरफ के नीचे वाले हाथ में कमलपुष्प है। प्रत्येक मनुष्य का यह कर्तव्य है कि वह मां सिद्धिदात्री की कृपा प्राप्त करने का निरंतर प्रयत्न करें।उनकी आराधना की ओर अग्रसर हो।इनकी कृपा से अनंत दुख रूप संसार से निर्लिप्त रहकर सारे सुखों का भोग करता हुआ वह मोक्ष को प्राप्त कर सकता है।नवदुर्गाओं में मां सिद्धिदात्री अंतिम हैं।अन्य आठ दुर्गाओं की पूजा उपासना शास्त्रीय विधि-विधान के अनुसार करते हुए भक्त दुर्गा पूजा के नौवें दिन इनकी उपासना करतें हैं।इन सिद्धिदात्री मां की उपासना पूर्ण कर लेने के बाद भक्तों और साधकों की लौकिक,परलौकिक सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति हो जाती है।
“कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती
बिना कुछ किये ही जय जयकार नहीं होती”
आज इस कविता के माध्यम से दीदी पुष्पांजलि ने सबको उत्साहित किया और कहा कि हर इंसान जो मां भगवती का भक्त है उसे अपनी मैया और खुद पर विश्वास करना चाहिए क्योंकि मां हर मुश्किल को दूर करके अपने भक्त को संभालती हैं।दीदी आगे कहती हैं कि कथा कभी समाप्त नहीं होती उसका सिर्फ विश्राम होता है।हरि अनंत हरि कथा अनंता सोमवार को ये 133 वीं कथा विश्राम हुई है।जिन लोगों ने भी पूर्ण निष्ठा और श्रद्धा से 9 दिन ये कथा सुनी है।उनके घर धन धान्य से परिपूर्ण होगें एवं माता की कृपादृष्टि बनी रहेगी,इस देवी भागवत को सुनने का पुण्य एक गरीब बेटी की शादी करने के समकक्ष होता है।
15 महिलाओं को मां दुर्गा शक्ति सम्मान से विभूषित किया गया जो निम्न प्रकार हैं,
विद्या चौधरी,सुधा गंगवार (हॉकी),मोनिका सिंह (हैंडबॉल)तीनो राज्यपाल पुरुस्कार प्राप्त,शिवि चौधरी (शाह ग्रुप),गीता सिंह (सेवा भारती प्रान्त संयोजिका),ममता गोयल (साहित्यकार),रंजना सोलंकी (गैस एजेंसी संचालक),शुभ्रा गुप्ता (छात्रावास संचालिका),अर्चना गहलोत( प्रधानाचार्य कान्तिकपूर विद्यालय), मीनू सिंघल (समाज सेविका),सुषमा वर्मा (समाज सेविका), सुषमा अग्रवाल (आरएसएस वृज प्रान्त), अंजू अग्रवाल (गरीब बच्चों को शिक्षित), प्रेमा पानू (क्रीड़ा भारती संयोजिका),सोनल गौतम ( समाज सेविका)।
आज के विशिष्ट अतिथियों में सुरेश राठौर, सीए रविन्द्र अग्रवाल, पवन सिक्का, सचिन गुप्ता, रतन गुप्ता, शिवकुमार,जितेन्द्र रस्तोगी रहे।सोमवार को सायंकाल माता का जागरण पंडित राघवेंद्र गौड़ द्वारा सम्पन्न होगा।अंत मे संयोजक मनीष अग्रवाल ने सबको धन्यवाद दिया।इस पूरे कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी सचिन श्याम भारतीय ने सब आयोजकों और पत्रकारों का इस मनभावन कार्यक्रम के साक्षी बनने का आभार व्यक्त किया।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× For any query click here ( IBN )