Breaking News
Home / देश / बेतिया: राष्ट्रीय आजाद मंच ने सेविका सहायिका बहाली प्रक्रिया में गलत तरीके से मैपिंग कराने का लगाया आरोप

बेतिया: राष्ट्रीय आजाद मंच ने सेविका सहायिका बहाली प्रक्रिया में गलत तरीके से मैपिंग कराने का लगाया आरोप

बेतिया:-राष्ट्रीय आजाद मंच ने सेविका सहायिका बहाली प्रक्रिया में गलत तरीके से मैपिंग कराने का लगाया आरोप।

मंच ने पत्र के माध्यम से जिला पदाधिकारी पश्चिम चंपारण बेतिया एवं जिला प्रोग्राम पदाधिकारी,आईसीडीएस बेतिया को इससे अवगत कराया

बेतिया/योगापट्टी:- राष्ट्रीय आजाद मंच के प्रखंड सचिव बबलू दुबे ने योगापट्टी परियोजना में हो रहे सेविका सहायिका बहाली प्रक्रिया में गलत तरीके से मैपिंग कराने का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने इस गंभीर विषय को पत्र के माध्यम से जिला पदाधिकारी पश्चिम चंपारण बेतिया एवं जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस बेतिया को इससे अवगत कराया है।वही राष्ट्रीय अज़ाद मंच के प्रखंड सचिव बबलू कुमार दुबे ने बताया कि योगापट्टी परियोजना अंतर्गत आईसीडीएस निदेशालय के नियम को ताक पर रखते हुए बिना सेविका सहायिका का वार्ड शिफ्टिंग किए क्षेत्रवार मैपिंग की प्रक्रिया गलत तरीके से कराया जा रहा है।

जबकि आईसीडीएस निदेशालय के पत्रांक,622/16.02.2012, 863/14.12.2015 व पत्रांक 899/09.03.2017 के आदेशानुसार वार्ड के आधार पर आंगनबाड़ी केंद्रों का परिसीमन एंव सेविका सहायिका का वार्ड शिफ्टिंग किया जाना है। बावजूद बाल विकास परियोजना पदाधिकारी योगापट्टी द्वारा नियम को कथित अनदेखी करते हुए रिक्ति की सूचना जिला को भेजा जा रहा है। जबकि वार्ड शिफ्टिंग के मामले को लेकर प्रखंड स्तर पर दर्जनों मामले लंबित पड़े हुए हैं। योगापट्टी प्रखंड में केंद्र संख्या 131 एवं 133 दो केंद्र एक ही वार्ड में संचालित हो रहा है जिसकी की सुनवाई या जांच चल रही है।

बावजूद संबंधित परियोजना से मनमानी तरीके से रिक्त बनाए गए केंद्र पर सेविका सहायिका की बहाली की रिक्ति की सूचना भी जिला को भेजा जा रहा है। जबकि सेविका सहायिका चयन नियमावली के अनुसार अगर प्रखंड में वार्ड शिफ्टिंग संबंधित विवाद है तो संबंधित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा विवादित वार्ड में बहाली करने के पूर्व भली प्रकार जांच कर तदनुसार नैसर्गिक न्याय के हित में आवश्यकता पड़ने पर बहाली का प्रस्ताव भेजे जाने का नियम है जो कि ऐसा नहीं हो रहा।

उन्होंने ज़िला पदाधिकारी से पत्र के माध्यम से मांग किया है कि सेविका सहायिका चयन प्रक्रिया पर रोक लगाते हुए एंव निदेशालय के नियम को देखते हुए सर्वप्रथम सेविका सहायिका का उनके गृह वार्ड में वार्ड परिसीमन करने के पश्चात ही रिक्त पड़े सेविका सहायिका का चयन प्रक्रिया कराया जाए। जिससे सेविका सहायिका चयन में कोई त्रुटि ना हो।

About IBN24X7NEWS

Check Also

हाईलाइट्स -पूर्वांचल मे खून की होली खेलने वाले माफियाओ को सजा नही दे पायी मोदी सरकार

ibn24x7news ♟पूर्वांचल में दशकों से चली आ रही है गिरोहों की आपसी अदावत ♟गृहमंत्री राजनाथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *