Breaking News
Home / ब्रेकिंग / मतगणना के दौरान भाटपाररानी में ज्यादा अंतर से आगे रही भाजपा

मतगणना के दौरान भाटपाररानी में ज्यादा अंतर से आगे रही भाजपा

सपा के गढ़ में चित हुई हाथी, खिला कमल

मतगणना के दौरान भाटपाररानी में ज्यादा अंतर से आगे रही भाजपा

मोदी लहर में कुशवाहा मतों को तोड़ने में नाकाम हुए बसपा के आरएस

देवरिया। कभी समाजवादियों और कांग्रेस का गढ़ सलेमपुर सीट मोदी लहर में लगातार दूसरी बाद भाजपा के पाले में चली गई। सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद भाजपा की ऐसी आंधी चली कि हाथी चित हो गई और कमल खिल गया। देवरिया से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी और सलेमपुर से रविंद्र कुशवाहा को लोगों ने सिर आंखों पर बैठाया है।

आजादी के बाद सर्वाधिक दोनों सीटों पर कांग्रेस का कब्जा रहा। बाद में सलेमपुर और देवरिया सीट कई बार सपा और बसपा के कब्जे में रही। देवरिया से पूर्व सांसद मोहन सिंह दो बार और एक बार बसपा से गोरख प्रसाद जायसवाल सांसद चुने गए थे। वहीं सलेमपुर संसदीय सीट पर सपा से एक बार पूर्व सांसद हरिवंश सहाय और दूसरी बार हरिकेवल प्रसाद सांसद चुुने गए।

बसपा से बब्बन राजभर और रमाशंकर विद्यार्थी का कब्जा रहा। वर्ष 2014 की मोदी लहर में सभी पार्टियों का सूपड़ा साफ हो गया था। इसे रोकने के लिए इस बार सपा-बसपा समेत कई पार्टियां एकजुट होकर चुनाव मैदान में उतरी थी। बसपा के खाते में सीट होने के कारण देवरिया से विनोद जायसवाल और सलेमपुर से बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा चुनाव लड़ रहे थे, लेकिन मोदी के सामने गठबंधन का जादू नहीं चला और दोनों प्रत्याशियों को हार का सामना करना पड़ा।

भाटपाररानी विधानसभा से सर्वाधिक मत मिलने की उम्मीद गठबंधन प्रत्याशी को थी, क्योंकि सपा के विधायक होने के कारण आशुतोष उपाध्याय ने पूरा जोर लगा दिया था। बावजूद भाटपाररानी विधानसभा में भारी मतों से भाजपा की जीत हुई। सलेमपुर विधानसभा में गठबंधन और भाजपा का परिणाम कुछ बूथों पर एक समान देखा गया।…

About IBN24X7NEWS

Check Also

breaking मिर्ज़ापुर: गांव वालो की पिटाई से वृद्ध महिला की मौत

रिपोर्ट सुजीत कुमार ibn24x7news अदलहाट मिर्ज़ापुर 14 जून 2019 जमालपुर मीरजापुर –  जमालपुर थाना क्षेत्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *