Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / Breaking रायपुर /छत्तीसगढ़ :- राज्यपाल के अभिभाषण पर टकराए पूर्व सीएम और सीएम , रमन ने कहा-‘सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब’, भूपेश का जवाब- ’15 साल मुख्यमंत्री रहने वाले 15 दिन भी इंतजार नहीं कर पा रहे

Breaking रायपुर /छत्तीसगढ़ :- राज्यपाल के अभिभाषण पर टकराए पूर्व सीएम और सीएम , रमन ने कहा-‘सरकार का चेहरा हुआ बेनकाब’, भूपेश का जवाब- ’15 साल मुख्यमंत्री रहने वाले 15 दिन भी इंतजार नहीं कर पा रहे

Ibn24×7nesw
रिपोर्टर – घासीराम पात्र , छत्तीसगढ़’

रायपुर। विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर सत्ता पक्ष और विपक्ष ने एक दूसरे पर निशाना साधा है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने राज्यपाल के अभिभाषण को निराशा जनक बताया है. रमन सिंह ने कहा कि 15 साल बाद बड़े जोश खरोश के साथ, बड़ी-बड़ी उम्मीद, बड़ी-बड़ी आशाएं दिखाकर छत्तीसगढ़ में प्रचण्ड बहुमत जितने वाली कांग्रेस सरकार का चेहरा बेनकाब हो गया. उन्होंने कहा राज्यपाल का अभिभाषण सरकार की दिशा तय करने वाला, सरकार की नीति तय करने वाला, नीति विषयक दस्तावेज होता है. जो सरकार की बातों को जनता तक पहुँचाने का माध्यम बनता है. उन्होंने कांग्रेस के शराबबंदी के वादे को लेकर भी सरकार को आड़े हाथ लिया. रमन सिंह ने शराबबंदी को लेकर बड़ी-बड़ी बातें की गई थी, लेकिन नीतिगत विषय को नकार दिया गया. बिजली बिल हाफ करने की बात कहीं थी लेकिन आज के भाषण में उसकी झलक तो दिखती कि सरकार ने आने वाले दिनों में इसके क्रियान्वयन कैसे करेंगे. बेरोजगारी भत्ता, बुजुर्गों के भत्ता जैसे न जाने कितने बड़े- बड़े वादे किये थे. किसानों की कर्जमाफी की सीमा भी बांध दी गई. राज्यपाल का अभिभाषण ने सरकार की नीतियों को नहीं दिखाया. कांग्रेस की मंशा साफ दिख गई है कि सिर्फ चुनाव जितने के लिए बड़े बड़े वादे किये गए लेकिन जनता के लिए इनके पास कुछ नहीं है.

उधर विपक्ष के आरोपों पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा जिस गति से कांग्रेस सरकार काम कर रही है उसे विपक्ष पचा नहीं पा रहा है. 15 साल रमन सरकार ने काम किया, वह 15 दिन भी इंतजार नही कर पा रहे. जिस गति से कांग्रेस सरकार काम कर रही है उसे विपक्ष के लोग पचा नहीं पा रहे. अब वे सोच रहे होंगे कि इस तेजी से मैंने क्यों काम नहीं किया. उन्होंने राज्यपाल के अभिभाषण पर कहा कि अभिभाषण में किसानों की ऋणमाफी का उल्लेख, 2500 रुपये क्विंटल में धान खरीदी का उल्लेख, झीरम घाटी नक्सल हमले में एसआईटी का गठन, पत्रकार, वकीलों और डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए बनाये जाने वाले कानून का जिक्र किया है. छत्तीसगढ़ के समुचित विकास के बारे में उल्लेख है. राज्यपाल के अभिभाषण में छत्तीसगढ़ के सभी वर्गों का ध्यान रखा गया.

About IBN24X7NEWS

Check Also

बंपर जीत पर ये बोले पीएम मोदी, इन्होंने दी बधाई

रिपोर्ट अनूप मिश्रा ibn24x7news बहराइच देश की जनता ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी पर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *