Breaking News
Home / Highlight's / BREAKING मोदी के दिव्यांग को चयन के बाद भी नहीं मिल रहा ज्वाइनिंग लेटर, ये है बीजेपी सरकार

BREAKING मोदी के दिव्यांग को चयन के बाद भी नहीं मिल रहा ज्वाइनिंग लेटर, ये है बीजेपी सरकार

 

साल के अपने अंतिम मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से शारीरिक रुप से विकलांग के स्थान पर दिव्यांग शब्द का प्रयोग करने का आग्रह किया परन्तु उनकी सरकार के एक विशेष मंत्रालय ने उनकी कथनी का अर्थ ही बदल दिया। हम बात कर रहे हैं रेल मंत्रालय की जिसने लिखित परीक्षा मे पास होते हुए भी interview प्रक्रिया में एक दिव्यांग का मजाक बना कर रख दिया। रंजीत ने अपनी दिव्यांगता (दृष्टहीनता) के बावजूद मई 2016 में रेलवे की ग्रुप डी की परीक्षा पास की।

परंतु साक्षात्कार पत्र को जिस दिन अभ्यर्थी को भेज गया उसी दिन कलकत्ता मे होने वाले साक्षात्कार मे शामिल होने को कहा गया।ये किसी भी व्यक्ति के लिए संभव नही कि एक ही दिनांक पर दिल्ली से कलकत्ता पहुँच सके। नियम के अनुसार अभ्यर्थी को दो अवसर दिए जाने चाहिए परंतु दिल्ली हाइकोर्ट के निर्देश के बावजूद रेलवे बोर्ड ने दूसरा इंटरव्यू नही कराया। अप्रैल 2020 मे केस की सुनवाई है किंतु चार साल से एक दिव्यांग अपनी लड़ाई जारी रखे हुए है। क्या ये राजनैतिक और सामाजिक विकलांगता नही है कि

कब मिलेगी रणजीत गुप्ता को नौकरी

रंजीत गुप्ता नेत्रहीन हैं

“प्रयासों के थपेड़े विकलांग को दिव्यांग कर देते हैं,

फिर सरकार उन्हें बैसाखियाँ प्रदान करती है।”


मोदी के शब्द तभी सार्थक होंगे जब उनके ही सरकारी मंत्रालय अपनी मानसिक विकलांगता का त्याग करते हुए  अपने बनाये नियमों का कड़ाई से पालन करेंगे ।

कब मिलेगी रंजितगुप्ता को नौकरी

रेल बनाम रंजित गुप्ता 

About IBN NEWS

It's a online news web channel running as IBN24X7NEWS.

Check Also

चोरी करके वाहन को बेचने हेतु ले जाते समय 03 शातिर अभियुक्त गिरफ्तार

    रुपैडिहा थानाक्षेत्र अन्तर्गत आज उ0नि0 उमाकान्त मिश्र मय हमराही आरक्षी इन्द्र प्रकाश सिंह …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here