Breaking News

बेतिया:- सेविका-सहायिका चयन की प्रक्रिया पूर्ण पारदर्शी एवं निष्पक्ष होगी: जिलाधिकारी।

 

बेतिया:-भ्रष्टाचार एवं फर्जीवाड़े की सूचना पर की जायेगी कड़ी कार्रवाई।
जिलाधिकारी, डाॅ0 निलेश रामचंद्र देवरे ने कहा है कि पश्चिम चम्पारण जिले में आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका के चयन की प्रक्रिया पूर्ण पारदर्शी एवं निष्पक्ष होगी।

सेविका-सहायिका चयन हेतु ग्राम सभा के एक दिन पूर्व निर्वाचन की तर्ज पर जिले के किसी भी परियोजना की महिला पर्यवेक्षिका को उस आमसभा के लिए प्रतिनियुक्त किया जायेगा। अर्थात जिस महिला पर्यवेक्षिका के द्वारा आवदेन प्राप्त किया जा रहा है उससे भिन्न महिला पर्यवेक्षिका के द्वारा आमसभा का आयोजन कर चयन की प्रक्रिया की जायेगी। जिससे किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने की संभावना नहीं रहेगी।

विभिन्न स्रोतों से जिलाधिकारी को सूचना प्राप्त हो रही है कि मध्यमा/इंटर परीक्षा पास होने के जाली प्रमाण पत्र के आधार पर भी आवेदन भरा गया है। इसे अत्यंत गंभीरता से लेते हुए जिला पदाधिकारी द्वारा ऐसे आवेदकों को चेतावनी दी गयी है कि ग्राम सभा के पूर्व एसे जाली प्रमाण पत्रों की गहन जांच की जायेगी और जाली प्रमाण पत्र संलग्न करने वाले अभ्यर्थियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता के सुसंगत धाराओं के तहत कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

जिलाधिकारी द्वारा सेविका-सहायिका के पद पर चयन हेतु आवेदन करने वाले सभी अभ्यर्थियों का आह्वान किया गया है कि सेविका-सहायिका के चयन में यदि किसी व्यक्ति/कर्मी के द्वारा रिश्वत की मांग की जाती है अथवा गुमराह कर चयन प्रक्रिया दूषित किये जाने की बात कही जाती है तो इसकी शिकायत दूरभाष संख्या-06254232535 पर दर्ज करायी जा सकती है। इसके साथ ही गुमराह किए जाने वाले व्यक्ति/कर्मी के विरूद्ध साक्ष्य के तौर पर वीडियो-आॅडियो क्लिप उपलब्ध कराया जायेगा तो संबंधित आरोपी के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी।

About IBN24X7NEWS

Check Also

मैनटाड़ प्रधानमंत्री आवास योजना का राशि उठाकर घर नहीं बनाने वाले लाभार्थी पर होगी कार्रवाई

विजय कुमार शर्मा बिहार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण कार्य के लिए लाभार्थियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *