Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / अघोषित बिजली कटौती से त्रस्त लोगो ने कलेक्टर से मिलने गए कलेक्टर ने आचार संहिता का बात कह टाल दिए

अघोषित बिजली कटौती से त्रस्त लोगो ने कलेक्टर से मिलने गए कलेक्टर ने आचार संहिता का बात कह टाल दिए

अघोषित बिजली कटौती से त्रस्त लोगो ने कलेक्टर से मिलने गए थे लेकिन कलेक्टर ने आचार संहिता का बात कह कर लोगो से नही मेले निरास होकर वापस लौटे सत्याग्रही बनाये एक और रणनीति

घासीराम पात्र ibn24x7news

बिजली सत्याग्रह के प्रथम चरण में अपनी समस्याओं को लेकर ज्ञापन सौंपने गए देवभोग एवं मैनपुर विकासखंड के सत्याग्रहियों की मुलाकात आचार संहिता के चलते कलेक्टर गरियाबंद से नहीं हो पाई,जिससे बिजली सत्याग्रही निराश तो हुए किंतु नाउम्मीद नही
बैरंग लौटने के पश्चात देवभोग,झाखरपारा,उरमाल, अमलीपदर, गोहरापदर, धुरूवागुड़ी, इंदागंव, कोयबा और मैनपुर के बिजली सत्याग्रहियों की बैठक पुनः दिनाँक 04/05/19 दिन शनिवार स्थान गोहरापदर में आयोजित की गई थी,जिसमे सत्याग्रहियों ने कलेक्टर से न मिल पाने के कारण जिला प्रशासन के प्रति रोष व्यक्त किया तथा निम्नलिखित निर्णय लिए गए

राज्यपाल,मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री जिला गरियाबंद एवं मुख्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन को ज्ञापन डाक से प्रेषित किया जाएगा

क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराने एक प्रतिनिधिमंडल प्रभारी मंत्री जिला गरियाबंद से भेंट करने जाएंगे

ज्ञापन प्रेषित करने के 7 दिवस के भीतर यदि प्रशासन द्वारा हमारी माँगो के समाधान के लिए यदि कोई ठोस पहल नही की जाती है तो समस्त सत्याग्रहियों द्वारा दिनाँक 15/05/19 दिन बुधवार से देवभोग मुख्यालय में अनिश्चित कालीन क्रमिक भूख हड़ताल किया जाएगा

प्रशासनिक पहल आज दिनाँक 05/05/19 दिन रविवार को अनुविभागीय अधिकारी देवभोग के द्वारा बिजली सत्याग्रहियों की एक बैठक बुलाई गई,जिसमे प्रशासन द्वारा अब तक उठाए गए कदमों की जानकारी सत्याग्रहियों को दी गई एवं आंदोलन को स्थगित करने कहा गया ,किंतु सभी सभी सत्याग्रही ग्रामीणों ने एक स्वर में कहा कि जो भी कदम उठाए गए है वो अपर्याप्त है,जब तक प्रशासन कोई ठोस पहल नही करेगा 15 मई को प्रस्तावित क्रमिक भूख हड़ताल का फैसला यथावत रहेगा

हम आपको यह बता दें की बिजली समस्या से देवभोग एवं मैनपुर विकासखंड के निवासी इतने पीड़ित है कि व्हाट्सएप ग्रुप से शुरू हुआ बिजली सत्याग्रह अब एक जन आंदोलन बन चुका है,आज इस अंचल के निवासियों के लिए सत्याग्रह एक नई उम्मीद की किरण बनकर उभर रहा है,बिजली सत्याग्रह में अब तक 150 गांव के लगभग 700 सदस्य जुड़ चुके है,और हजारों रु आर्थिक सहयोग भी इस मुहिम को कर रहे है।

About IBN24X7NEWS

Check Also

महराजगंज : जेई/ एईएस को लेकर स्वास्थ्य विभाग एलर्ट

Ibn24x7news रिपोर्ट अरविंद यादव महराजगंज:- जेई/ एईएस को लेकर स्वास्थ्य विभाग एलर्ट है। मरीजों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *