Breaking News
Home / देश / खड्डा कुशीनगर – बड़ी गंडक नदीं का जलस्तर, खतरे के निशान की ओर बढ़ी रहा हैं

खड्डा कुशीनगर – बड़ी गंडक नदीं का जलस्तर, खतरे के निशान की ओर बढ़ी रहा हैं

Ibn24x7news रिपोर्ट ओमप्रकाश कुमार
खड्डा कुशीनगर
गंड़क नदी उफान पर हैं नेपाल के पोखरा जल अधिग्रहण क्षेत्र में 53 मिमी बारिश होने से यूपी सीमा से सटे वाल्मीकि नगर गंडक बैराज पर बड़ी गंडक नदी उफना गई है। नदी शुक्रवार को 1 लाख 50 हजार क्यूसेक के जलस्तर को पार कर गई। नदी उफनाने से खड्डा रेता क्षेत्र में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। भैंसहा गेज पर नदी तेजी से खतरे के निशान की ओर बढ़ रही है और वीरभार ठोकर के स्पर सी से सटकर नदी बहने लगी है।
सीमावर्ती नेपाल मे गंडक नदी के जल अधिग्रहण क्षेत्र में हुए भारी बारिश के कारण नदी के जलस्तर में तेजी से वृद्धि दर्ज की जा रही है। इससे बिहार के निचले इलाकों में पानी भर गया है। वहीं खड्डा रेता क्षेत्र के लोग नदी के जलस्तर मे लगातार वृद्धि होता देख परेशान हो गए हैं। लोगों को अभी से यह चिंता सताने लगी है कि नदी के जलस्तर की बढोत्तरी लगातार इसी तरह रही तो निचले इलाको में बसे लोगों के घरों में नदी का पानी पहुंच जायेगा। वहीं नदी के दबाव से कटान का खतरा एक ओर बना हुआ है तो दूसरी तरफ निचले इलाके में पानी के फैलने से खेती भी प्रभावित होने लगी है।
गंडक बैराज के गेट में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद ली जा रही है। गंडक बैराज के सभी गेटों को आंशिक तौर पर उठा दिया गया है। जल संसाधन विभाग द्वारा तटबंधों की सुरक्षा के लिए अलर्ट जारी कर दिया है। अधीक्षण अभियंता अभय नारायण ने तटबंध का निरीक्षण कर नदी के रुख व जलस्तर वृद्धि का हाल जानते हुए अभियंताओं की टीम को तटबंधों पर तैनात रहने का निर्देश दिया है। सीमावर्ती नेपाल में पिछले 24 घंटे के भीतर मूसलाधार बारिश होने से तीन से चार दिनों तक नदी के जल स्तर में वृद्धि जारी रहने की संभावना है। वहीं इस बार जल अधिग्रहण क्षेत्र में औसत बारिश दर्ज की गई है। हालांकि निचले इलाकों में बाढ़ की आशंका बनी हुई है।
दो सहायक नदियां भी बढ़ाती हैं जलस्तर
वाल्मीकि नगर की दो बरसाती नदी क्रमशः सोनहा व तमसा के पानी से भी गंडक का जलस्तर बढता है। लेकिन नेपाल के पोखरा गंडक नदी जल अधिग्रहण क्षेत्र में हुई बारिश का रिकार्ड तो मिल जाता है, लेकिन गंडक नदी से मिलने वाली दो सहायक नदियों सोनहा व तमसा का रिकार्ड नहीं मिल पाता है। इन नदियों में अचानक पानी आ जाने से ही गंडक नदी का जलस्तर यकायक बढ़ जाता है और बाढ़ का खतरा मंडराने लगता है।
खड्डा रेता क्षेत्र के लोग भयभीत
बड़ी गंडक नदी के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि से खड्डा रेता क्षेत्र के मरिचहवा, शिवपुर, बाल गोविन्द छपरा, बकुलादह, शाहपुर, विन्ध्याचंलपुर, बसंतपुर, नारायनपुर भैसहीया ,सिरपत नगर , छितौनी आदि गांवों के लोग भयभीत हो चुके है। शुक्रवार की सुबह छितौनी बांध के भैंसहा गेज पर नदी खतरा बिन्दु 98.6 मीटर को छूने को बेताब दिखी। फिलहाल भैंसहा गेज पर नदी का जलस्तर 95.7 मीटर तथा वीरभार गेज पर 94.37 मीटर पर नदी बह रही है।

About IBN NEWS

It's a online news web channel running as IBN24X7NEWS.

Check Also

केंद्र सरकार ने जारी कीं अनलॉक 2.0 की गाइडलाइंस

  नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने अनलॉक-2.0 की गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. सरकार द्वारा …

कल राष्ट्र को सम्बोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

  हाल ही मे मन कि बात करने के 48 घण्टे बाद प्रधानमंत्री मोदी कल …

टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप मोदी सरकार ने बैन किए , चीन पर डिजिटल स्ट्राइक

  सरकार ने लोकप्रिय चीनी ऐप टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया …

चीनी सेना से नहीं, मार्शल आर्ट में माहिर हत्यारों से भिड़े थे भारतीय जवान

  लद्दाख के गलवान घाटी में 15 जून को हुई हिंसक झड़प के बाद से …

लगातार पेट्रोल डीजल के भाव बढ़ाकर सरकार भर रही खजाना

  आम आदमी कोरोनावायरस के चलते प्रभावी लाकडाऊन मे ही आर्थिक संकट से जुझ रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here