Breaking News

प,च,बिहार: मझौलिया सुगर इंडस्ट्रीज पर मंडराने लगा संकट के बादल

मझौलिया सुगर इंडस्ट्रीज पर मंडराने लगा संकट के बादल
जारी है श्रमिको का काम रोको हड़ताल
मझौलिया।मांगो के समर्थन में श्रमिक संगठनों द्वारा मझौलिया सुगर इंदूस्ट्रीज़ में जारी काम रोको हड़ताल चौथे दिन भी जारी रहा।मझौलिया पुलिस की हस्तक्षेप से बिगत 04 जून को लैब कैम्पस में हुआ समझौता वार्ता कोई मुकाम पर नहीं पंहुचा।मजदूर मांगो की स्वीकृति नहीं होने तक हड़ताल जारी रखने की घोषणा की है।यूनियन के लीडर हरेंद्र नारायण सिंह,बाबूलाल ठाकुर, रामेश्वर महतो, शम्भू ठाकुर, भोला हजरा, राजेश्वर पांडेय ने बताया कि उनकी मुख्य मांगों में आउट ऑफ वेज बोर्ड के बदले वेजबोर्ड में श्रमिकों की बहाली करना, सेवा मुक्त होने पर श्रमिको के आश्रितों को बहाल करने,मजदुर बिगू पासवान का निलंबन वापस कर ड्यूटी ज्वाइन करने,सालोभर काम करनेवाले कर्मचारियों को स्थाईकरण आदि मांगे मुख्य रूप से शामिल है।
शांति भंग नहीं हो इसलिये चीनी मिल परिसर में पुलिस बल की तैनाती की गयी है।सुगर इंदूस्ट्रीज़ के निदेशक सी एल शुक्ला कोलकता हेड क्वार्टर से निदेशक के आने तक आंदोलन को टालने की बात कही परंतु श्रमिक नेता तैयार नहीं हुए।प्रवंधन और मजदूरों के बीच आर पार की लड़ाई ठन गया है।इधर लगातार घाटा लगने ,चीनी की बिक्री ठप्प होने और चीनी के मूल्य में लगातार हो रही ह्रास से प्रबंधन लाचार6 हो गया है।आंदोलन का अगला रुख क्या होगा, ये तो भविष्य के गर्भ में है।काम ठप्प हो जाने से प्रवंधन को काफी नुकसान हो रहा है।फैक्ट्री की मरम्मत और गन्ना मापी कार्य बुरी तरह प्रभावित हो गया है।मजदूर संगठनों ने हड़ताल की सुचना सरकारी प्रशासनिक अधिकारियों को दे दी है।परंतु सरकारी महकमे के आला अधिकारियों द्वारा समाधान की दिशा में कोई प्रयाश नहीं किया गया है।गन्ना महाप्रवंधक डॉ. जे पी त्रिपाठी ने बताया कि एक क्विंटल चीनी बनाने में 38 सौ रूपये का खर्च आता है जबकि चीनी बिक्री का सरकार ने निर्धारित मूल्य 29 सौ रूपये निर्धारित किया है।जबतक कोई बायो प्रोडक्ट्स से उत्पादन का सृजन नहीं होगा, चीनी मिलें जीवित नहीं रह सकती।उन्होंने कहा कि श्रमिक हित और उद्योग हित में हड़ताल वापस ले लेना चाहिये।
 
रिपोर्ट विजय कुमार शर्मा ibn24x7news पश्चिमी चंपारण बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *