पश्चिमी चम्पारण (बेतिया)- सिविल सर्जन की लापरवाही से शहरों में अनाधिकृत नर्सिंग होम में मरीजों की मौत का सिलसिला जारी

Ibn24x7news विजय कुमार शर्मा प,च,बिहार
शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों निजी नर्सिंग होम की बाढ़ आ गई है इनकी मनमानी और रोगियों से अधिक राशि वसूल करना प्रतिदिन की नियति बन गई है। अनाधिकृत रूप से निजी नर्सिंग होम मैं अनाधिकृत रूप से डॉक्टरों के रहने से रोगियों की मौत का सिलसिला जारी हो गया है दिन प्रतिदिन यह सूचना प्राप्त होती है कि किसी-न-किसी नर्सिंग होम में किसी ना किसी कारण से मरीजों की मौत हो रही है। सरकारी अस्पताल रहते हुए अनाधिकृत रूप से निजी नर्सिंग होम का चलना सिविल सर्जन एवं जिला प्रशासन की लापरवाही का द्योतक है। निजी नर्सिंग होम और निजी डॉक्टरों की क्लीनिक पर दलालों के माध्यम से मरीजों की मरने की शत-प्रतिशत घटना घट रही है इतना ही नहीं मरीजों से अधिक राशि वसूल कर भी उनको जान बचाने में सक्षम यह डॉक्टर नहीं है। अनाधिकृत रूप कुवैकों के द्वारा मरीजों का ऑपरेशन करना, मरीजों को बेहोश करने के लिए गलत तरीके से ईॉथर को देना, दवाइयों को देना इत्यादि ही रोगियों को जान लेने में सहायता हो रही है। इसी क्रम में एक निजी नर्सिंग होम में एक ६० वर्षीय व्यक्ति की मौत होने पर मरीजों के परिजनों के द्वारा डॉक्टर के क्लीनिक में जबरदस्त मारपीट तोड़फोड़ गाली गलौज होने के कारण विषम स्थिति पैदा हो गई। पुलिस की सूचना मिलते ही नगर थाना अध्यक्ष हो नित्यानंद चौहान ने मध्यस्ता करके हालात को काबू में करने में सफल हुए उन्होंने आगे बताया कि रोगी एवं उनके परिजनों के द्वारा अभी तक कोई लिखित आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है जिससे इस पर कार्रवाई की जा सके। मृतक नगीना प्रसाद अपने पीछे चार पुत्रियों को छोड़कर स्वर्गवास हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here