supernova casino no deposit bonus for existing members soaring eagle casino online games nsfw online blackjack free tivoli casino bonus code blackjack card game free online free bonus no deposit casino
Breaking News

बगहा:- नैतिक जागरण मंच द्वारा को-ओपरेटिव कोचिंग सेंटर नारायणपुर में जागरूकता अभियान चलाते हुए वृक्ष के महत्व को बताएं ताकि लोग वृक्षों को पुत्र या पिता की तरह सेवा या रक्षा करें

बगहा:- नैतिक जागरण मंच द्वारा को-ओपरेटिव कोचिंग सेंटर नारायणपुर में जागरूकता अभियान चलाते हुए वृक्ष के महत्व को बताएं ताकि लोग वृक्षों को पुत्र या पिता की तरह सेवा या रक्षा करें
बगहा नगर के नैतिक जागरण मंच के सचिव निप्पू कुमार पाठक ने कहा कि आखिर दुनिया का सबसे बड़ा संत किसे माना चाहिए? यदि यह प्रश्न आप मुझसे पूछे तो मेरा एक ही उत्तर होगा दुनिया का सबसे बड़ा संत वृक्ष हैं। इस बात को मैं बड़े पुख्ता के साथ इसलिए कह रहा हूं कि स्वयं यक्ष के प्रश्नों का उत्तर देते हुए महाराज युधिष्ठिर ने यह बात कहा थी कि सर्व भूत हिते रत: साधु अर्थात जो व्यक्ति सभी प्राणियों का हित चाहता है उसे ही साधु कहते हैं। वृक्ष हर तरह से अपने हर वस्तुओं से मानव कल्याण ही करता है। जड़े जो जमीन के अंदर हैं वह जल को आकर्षित करते हैं। जिससे जल का स्तर नीचे नहीं जाता। दूसरी ओर वृक्ष हैं जिनके जोड़ों का उपयोग गंभीर से गंभीर बिमारी के इलाज में किया जाता है |
पेड़ों की त्वचा का उपयोग फर्नीचर से लेकर कई तरह के सामानों को बनाने में किया जाता है। ऑक्सीजन देकर के हर विधि से हमारा कल्याण करता है। वर्षा कराने, पर्यावरण संरक्षण एवं वैश्विक ताप को स्थिर रखने में वृक्ष भूमिका हमलोगों से छुपी नहीं ।इसी कारण से पेड़ को सबसे बड़ा संत कहा गया। उदाहरण के तौर पर आप देखें तो यह स्पष्ट हो जाता है। तुलसीदास जी शौच के लिए जाते पानी को शौच के उपरांत एक वृक्ष के जड़ में डाला करते थे ।इसका फल यह हुआ कि उस पेड़ पर रहने वाली आत्मा तृप्त हुई और उसने राम भक्त हनुमान का परिचय बताया।
जिसके कारण तुलसीदास को रामचंद्र जी के दर्शन हुए। एक वृक्ष को जल देने का यह फल है। तो आइए नैतिक जागरण मंच जिस तरह से आज को-ओपरेटिव कोचिंग सेंटर नारायणपुर में जागरुक करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया उसी तरह आप भी अपने आसपास के लोगों को वृक्ष के महत्व को बताएं ताकि लोग वृक्षों को पुत्र या पिता की तरह सेवा या रक्षा करें। बिना वृक्ष के जल की कामना करना या फिर जीवन की कामना करना उसी प्रकार व्यर्थ है। जिस प्रकार पत्थर पर घास उगाना ।आइए वन महोत्सव के बहाने ही सही वृक्ष लगाकर विश्व बचाने की मुहिम को साकार करें। मैं कोचिंग के उन तमाम बच्चों के अभिभावकों को नमन करता हूं जिन्होंने बच्चों के माध्यम से वृक्ष लगाने के लिए वृक्षों को खरीदने हेतु सहयोग स्वरूप अपनी राशि भेजी है।
और को-ओपरेटिव कोचिंग सेंटर के बच्चे काफी उत्साहित दिखे तथा उन्हें मंच के सदस्यों के द्वारा एक-एक पेड़ भेंट की गयीl आप सभी का बहुत-बहुत अभिनंदन बहुत-बहुत साधुवाद।इस कार्यक्रम में प्रीति, रूपाली,कोमल,स्नेहा, खुशी,मुन्नी,सोफिया,अभिषेक, विद्यापति,मुकुलदूज,विनय पाठक,अखिलेश, रोशन,अनूप , दुर्गेश,गुलशन ने पर्यावरण पर अपने-अपने विचार रखें मंच के अध्यक्ष अरुण कुमार सिंह, सचिव निप्पू कुमार पाठक, समन्वयक अरविंद कुमार सिंह कोषाध्यक्ष नंदलाल प्रसाद उप कोषाध्यक्ष पारसनाथ जायसवाल मीडिया प्रभारी मिथिलेश कुमार पांडे, अभिजीत सिंह तथा अति सक्रिय सदस्य चुन्नू कुमार पाठक, टुनटुन प्रसाद उपस्थित रहे।
 
रिपोर्ट दिवाकर कुमार ibn24x7news बगहा

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

राजधानी पटना में, अधेड़ व्यक्ति ने नाबालिग से किया दुष्कर्म

  रिपोर्ट अमन सिंह IBN NEWS पटना राजधानी पटना एक बार फिर से शर्मसार हुई …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *