Breaking News

बगहा:-बगहा में रेलवे की 1700 एकड़ जमीन गायब हो गयी

बगहा:-बगहा में रेलवे की 1700 एकड़ जमीन गायब हो गयी
बगहा:-पश्चिमी चंपारण जिले के बगहा में रेलवे की 1700 एकड़ जमीन गायब हो गई है। दरअसल, इस भूमि पर अतिक्रमणकारियों ने कब्जा जमा लिया है। पहले यहां कच्चे मकान बनाए गए, अब पक्का निर्माण किया जा रहा है। साथ ही खरीद-बिक्री भी होने लगी है। रेलवे ने एसडीएम को पत्र लिखकर जमीन खाली कराने को कहा है।
करीब पांच दशक पूर्व गंडक की बाढ़ के कारण विस्थापित सैकड़ों परिवार शहर पहुंचे और रेलवे की खाली पड़ी सैकड़ों एकड़ जमीन पर कब्जा जमा लिया। धीरे-धीरे रेलवे की जमीन पर बगहा नगर का वार्ड नंबर चार, छह, सात और आठ बस गए। अभी इन वार्डों में तकरीबन 20 हजार लोग रह रहे हैं। रेलवे लगातार जमीन पर अपना दावा करता रहा और स्थानीय अधिकारियों से पत्राचार कर जमीन खाली कराने की मांग करता रहा, लेकिन विस्थापितों की संख्या अधिक होने के कारण प्रशासन ने कोई पहल नहीं की।
●रेलवे की जमीन पर बसी है गंडक कॉलोनी
दूसरी ओर, वर्ष 1977 में बगहा में गंडक परियोजना के तहत काम शुरू हुआ तो रेलवे की करीब आठ एकड़ जमीन पर कर्मचारियों के लिए पक्के क्वार्टर बने। परियोजना संपन्न होने के बाद कर्मी लौट गए। कॉलोनी खाली हो गई, लेकिन अब तक विभाग ने इसे रेलवे को हस्तगत नहीं किया है। कॉलोनी में कई लोगों ने अतिक्रमण कर लिया है।
दोनों जगह की जमीन खाली कराने के लिए बगहा के स्टेशन अधीक्षक जयकुमार प्रसाद ने एसडीएम को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने बताया है कि रेलवे की 1700 एकड़ से अधिक जमीन पर अतिक्रमण है। इसे हटाया जाए, ताकि रेलवे इसका उपयोग कर सके। एसडीएम घनश्याम मीना का कहना है कि मामला बहुत पुराना है। बगहा दो के सीओ को जांच कर प्रतिवेदन देने को कहा गया है। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।
 
रिपोर्ट दिवाकर कुमार ibn24x7news बगहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× For any query click here ( IBN )