बेतिया- बेतिया शहर के सुप्रसिद्ध एवं प्रख्यात अदीब एवं मकालानिगार एम आलम की मृत्यु के उपरांत उनको श्रद्धांजलि का कार्यक्रम आयोजित

Ibn24x7news विजय कुमार शर्मा प,च,बिहार
बेतिया शहर के सुप्रसिद्ध एवं प्रख्यात अदीब, म काला निगार एम आलम की मृत्यु के उपरांत उनको श्रद्धांजलि देने के हेतु उर्दू गर्ल्स हाई स्कूल इमामबाड़ा में अमन वेलफेयर एवं कल्चरल सोसाइटी की ओर से एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें शहर के मशहूर शायर अदीब सांस्कृतिक कार्यकर्ता एवम गणमान्य व्यक्ति की उपस्थिति में उनको भरपूर श्रद्धांजलि दी गई श्रद्धांजलि देने वालों में मृतक के पुत्र मोहम्मद मोहसिन आलम के द्वारा कुरान की तिलावत करके इसकी शुरुआत की गई इन्होंने अपने पिता के बारे में बताया कि वह एक अच्छे लेखक अदीब ,मकालानिगार थे अपनी पूरी जिंदगी लिखने पढ़ने और खिदमत ए खल्क में गुजरात दी मरने के आखरी समय तक भी उन्होंने लिखने पढ़ने का काम नहीं छोड़ा इनकी अदबी तखलीक से शहर के लोगों ने इससे फायदा उठाया । स्वर्गीय आलम की मृत्यु होने के पश्चात शहर के लोगों में एक रंजो गम का माहौल पैदा हो गया और इनकी कमी को शहर के गणमान्य व्यक्तियों ने इज़हारे अफसोस जताया। इस कार्यक्रम में अमन वेलफेयर एंड कल्चरल सोसाइटी के सचिव हसन इकराम के अलावा डॉक्टर नसीम मोहम्मद नसीम,नौशाद अहमद करीमी,जफर इमाम कादरी,,एम शकील, इम्तियाज अहमद शकील हैदर अरशद कमाल सैयद मोहम्मद जफर के अलावा बहुत से गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे सभी ने शहर के प्रख्यात एवं सुप्रसिद्ध अदीब लेखक,मकालानिगार स्वर्गीय आलम को उनकी लिखी हुई कई किताबों को तथा उनकी तशानीफात पर चर्चा की। स्वर्गीय आलम के कई शागिर्दों में डॉक्टर जहीर अंसारी अफरोज आलम साहिल प्रोफेसर अशरफ अली मुजाहिद इत्यादि इस सभा में उपस्थित थे। स्वर्गीय आलम इंदर नाथ अश्क पर अपनी रिसर्च पूरी करके डॉक्टरेट की डिग्री लेने में असफल रहे। स्वर्गीय आलम की लिखी हुई कई किताबें इनके मरने के पश्चात मंजर ए आम पर आएंगे। अमन वेलफेयर एंड कल्चरल सोसाइटी बेतिया की तरफ से जिस प्रकार से स्वर्गीय आलम को श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम किया गया है वह एक अनूठी मिसाल है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here