Breaking News
Home / उत्तरप्रदेश / लखीमपुर खीरी – इन्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज खीरी टाउन मे मनाया गया शिक्षक दिवस, टीचर वह नही है जो विषय पढ़ाता है, टीचर वह है जो शिक्षा की प्यास पैदा करता है –डा नजर अंसारी

लखीमपुर खीरी – इन्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज खीरी टाउन मे मनाया गया शिक्षक दिवस, टीचर वह नही है जो विषय पढ़ाता है, टीचर वह है जो शिक्षा की प्यास पैदा करता है –डा नजर अंसारी

लखीमपुर खीरी –खीरी टाउन मे फातिमा फाउंडेशन इन्डियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज खीरी टाउन मे शिक्षक दिवस के अवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन फातिमा फाउंडेशन के चेयरमैन डा नजर अंसारी की अध्यक्षता मे किया गया ।आयोजन के मुख्य अतिथि मो सलीम कस्सार पेन्टर रहे।कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रीय गान के साथ किया गया ।कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप मे बोलते हुए मो ससलीम कस्सार पेन्टर ने राधाकृष्णन के जीवन परिचय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हर टीचर को डा राधाकृष्णन के गुण अपनाने चाहिए ।क्योंकि टीचर युग निर्माता होता है ।मुख्य वक्ता के रूप मे बोलते हुए इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डा नजर अंसारी ने बच्चो व देश वासियो को टीचर डे की मुबारकबाद दी और कहा कि आज के शिक्षक ने अपना मोरल खुद खो दिया है ।उन्होने कहा कि जहा एक तरफ टीचर युग निर्माता होता है वही दूसरी तरफ युगों की बर्बादी का कारण भी होता है ।आज का टीचर दिहाड़ी दार मजदूरो वाली सोच लेकर घर से निकलता है और जिन्दा लाश की तरह क्लास मे जाता है और बच्चो को छोटे छोटे असाइनमेंट पे जलील करता रहता है ।आज कल के टीचर के पास अपनी इतनी समस्याए है कि वह उनसे निकल नही पाता अपने काम्पलेक्स अपनी नाकामी वह बच्चो मे बांटता रहता है ।आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि आज का टीचर अपने लिबास अपने तौर तरीको से वह टीचर लगता ही नही है ।एसे टीचर्स से युग निर्माण की उम्मीद नही की जा सकती ।आगे दुख जाहिर करते हुए कहा कि यह भारत का दुर्भाग्य है कि भारत मे टीचर्स बनाने की फैक्ट्रीया तो खुलती जा रही है पर टीचिग सिखाने का कोई प्लेटफार्म नही है। अयोग्य टीचर्स की भरमार होती जारही है ।जहा टीचिंग व्यवसाय समझा जाता हो वहा की कौम की हालत कैसे बदल सकती है ।टीचर वह नही है जो विषय पढ़ाता है, टीचर वह है जो शिक्षा की प्यास पैदा करता है ।बच्चो को संबोधित करते हुए डा अनसारी ने कहा कि आज के बच्चे कल के भारत के नेता है कल के भारत को लीड करने की योग्यता खुद मे पैदा करनी होगी, ताकि कल दुनिया तुम पर नाज करे ।अपने सम्बोधन मे छात्रा नजर फातिमा ने कहा कि हमारे गुरू हमारे सच्चे मार्गदर्शक होते है उनकी इज्जत करना हमारा कर्तव्य है गुरुओ की डाट मे भी प्यार होता है ।उनकी डाट और सजा हमारे लिए आशीर्वाद है ।छात्रा प्रिया सिह ने अग्रेजी मे डा राधाकृष्णन के जीवन परिचय पर विधिवत प्रकाश डाला और गुरुओ की गरिमा पर शानदार स्पीच बोली ।कार्यक्रम को डा नफीस डा साद मुदस्सर मोबश्शिर शर्मीला सोनू तहसीन निधि साक्षी महिमा ताहिरा शाजिया आदि ने भी सम्बोधित किया ।कार्यक्रम का संचालन नायशा ने किया ।अन्त मे प्रबन्धक खालिद भैया ने सभी का आभार व्यक्त किया ।देश की तरक्की और खुशहाली की कामना के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया ।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

अनुप्रिया पटेल से मिले सांसद प्रतिनिधि व युवा सभासद सिद्धार्थ सिंह,क्षेत्र की गिनाए समस्याएं

  ब्यूरो रिपोर्ट तीरथ पनिका IBN NEWS अनूपपुर मध्यप्रदेश मीरजापुर, अहरौरा: अपना दल एस की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *