Breaking News

पूर्वी चंपारण – गंदगी के तले पढ़ने को मजबूर सरकारी स्कूल के बच्चे


विजय कुमार शर्मा बिहार
पूर्वी चम्पारण जहां एक तरफ सरकार से लेकर बड़े अधिकारी ODF को लेकर पूरी तरह दिन रात एक किये हुवे हैं पूर्वी चम्पारण के जिलाधिकारी अपने हाथों से सड़कों के किनारे पड़े गंदगी को साफ करते नजर आते है वही दूसरी तरफ शिक्षा का मंदिर सरकारी स्कूल परिसर उत्क्रमित उच्च विद्यालय पकपकडी में odf का मजाक बन कर रह गया है जहां देखिए स्कूल परिसर में गंदा बिखरा पड़ा है नौबत तो यहां तक आ पड़ी की इस के बारे में पचपकडी ओपी को लिखित दरखास्त दिया जाता है इस के बारे में स्कूल प्राचार्य श्रीमती शाहनाज बानो बताती हैं कि ये कोई पहली बार ऐसा नही हुआ है रात को मेन गेट का ताला तोड़ कर आस पास के लोग अंदर आते है जुवा खेलते तो हैं कि यहां मल त्याग भी कर देते है हमलोग जब सुबह आते है तो साफ करवाते है जिसके चलते वर्ग कुछ समय के लिए बाधित हो जाता है यहाँ ओर स्वचालय की भी समूचीत व्यवस्था नही है जिसके चलते छात्राओं को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है जहां एक तरफ आला अधिकारी से लेकर निम्न तक सभी स्वछता को लेकर जागरूक है लेकिन वही अगर सरकारी स्कूल जहां स्कूल में स्वचालय नही हो और उस स्कूल में लगभग 900 छात्र छात्रा की पढ़ाई होती हो तब अधिकारी से लेकर सरकार तक सबका पोल खुलनना लाजमी है अगर सच मे स्वछ भारत का निर्माण करना हो तो शिक्षा का मंदिर को पहले स्वछ करना होगा हद तो तब है जब स्कूल के गेट पर जुवा का अड्डा हो और छुट्टी या टिफिन के वक़्त जगह से गुजरने वाले छात्र छात्राओं को परेशानी हो रही है प्रचार्य श्रीमती बानो बताती हैं कि हमलोग एक सीमित समय जब तक तक स्कूल का संचालन होता है हमलोग निगरानी करते है लेकिन जब हमलोग स्कूल बंद करने के बाद घर चले जाते हैं तो रात के अंधेरे में ये सब कारनामा होता है उन्होंने अपने थाने को दिए आवेदन में इस बात का जिक्र किया है कि स्कूल परिसर के चारो तरफ घर है जिसमे दुखा मदारी, गजेंद्र राय, विजय राय, उमेश चैधरी,सुरेंद्र राय, नागा राय आदि का घर है और वे लोग स्कूल परिसर में छुट्टी में अपने पशुओं को भी बांध देते हैं

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

Exclusive: अब तक का सबसे बड़ा खुलासा ,,थाने के इशारे पर फेंक रहे थे नदी में लाश — बिहारी साव

  रिपोर्ट अमन सिंह IBN NEWS पटना बक्सर चौसा प्रखंड के महादेवा गंगाघाट पर सैकड़ों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *