Breaking News

नवाबगंज में धड़ल्ले से चल रहा नकली मिनरल वाटर का धंधा
नवाबगंज बहराइच विभागीय अधिकारियों की लापरवाही एवं अनदेखी के चलते स्थानीय कस्बा मे बिना किसी प्रमाण के स्वछ जल के नाम पर बोरिंग से डिब्बे मे पानी भर कर मिनरल वाटर के नाम पर धड़ल्ले के साथ धंधा बदस्तूर जारी है जबकि स्थानीय प्रशासन के लोग आंख मूंद कर नकली मिनरल वाटर का प्रयोग करते देखे जाते है |
पृथ्वी पर ज्यो ज्यो जलवायु की आबोहवा बिगड़ती जा रही है वही स्वास्थ्य के प्रति विभिन्न नाना प्रकार की बीमारियों मैं वृद्धि होती जा रही है लोगों के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने के लिए सरकार द्वारा तमाम तरह के उपाय किए जा रहे हैं इसके बावजूद भी लोग नकली कंपनियों द्वारा बनाए जा रहे खाद्य तरल पदार्थ एवं नकली मिनरल वाटर का अनिभिग्ता वश प्रयोग करने के लिए मजबूर हैं आज कल एक चलन सा हो गया है की घरों में होने वाले छोटे से छोटे समारोहों में भी मिनरल वाटर कोकोकोला थमसब आदि पीने-पिलाने का रिवाज-सा चल पड़ा है, परन्तु मिनरल वाटर का गिलास या कोको कोला बोतल पीते समय शायद ही कोई इसके ऊपर लगा rapper मार्का देखता हो। आम लोग तो यह पहचान भी नहीं पाते कि मिनरल वाटर के नाम पर जो पानी वह पी रहे हैं वह पीने लायक है भी या नहीं।
सरकार ने इस मामले में जो नियम बना रखे हैं उनका प्रचार-प्रसार न होने की वजह से आम लोगों को मिनरल वाटर की शुद्धता व अन्य मानकों के बारे मैं ज्यादा जानकारी नहीं है। सरकार ने 2016 में इंडियन स्टैंडर्ड एक्ट बनाया गया था जिसके तहत कोई भी कम्पनी अपनी फमं रजिस्टर्ड करवाकर अपनी गुणवत्ता के लिए आई.एस.आई. मार्क नहीं करवाती तो उसके खिलाफ कार्रवाई का प्रावधान है जिसके तहत 2 साल की सजा या 2 लाख रुपए जुर्माना या दोनों सजा एक साथ हो सकती हैं।सच्चाई तो यह है कि संबधित बिभागीय अधिकारियो को इसकी पूरी जानकारी है परंतु इन्हें अपने टका सुपारी से मतलब होता है जो संबधित अधिकारियो कि मिली भगत एंवम अनदेखी के चलते मिनरल वाटर बनाने हेतु बिना लाइसैंस पैक्ड वाटर तैयार कर रही हैं और ऊंचे दाम में इस नकली मिनरल वाटर की सप्लाई धड़ल्ले के साथ कस्बा नवाबगंज के दुकानदारो के साथ ही स्थानीय पुलिस विभाग सहित अन्य समारोहों मे किया जा रहा है। अधिकारियों को कस्बा नवाबगंज स्थित मिनरल वाटर तैयार करने वाली फर्जी कम्पनियों की जागरुक लोगो द्वारा कई बार जानकारी देकर जांच कर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाली इन कम्पनियों के मालिकों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की गई परंतु विभागीय अधिकारियों के निडरता का प्रत्यक्ष प्रमाण है कि सरकार लोगों के स्वास्थ के प्रति कोट जतन कर ले जनता जाय भाड मे इन्हें अपने टका सुपारी से मतलब।
 
रिपोर्ट अनूप मिश्रा ibn24x7news बहराइच

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

भूगोल विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर केएन सिंह को कुलपति नियुक्त किया गया।

रिपोर्ट ब्यूरो   गोरखपुर। भूगोल विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रोफेसर के एन सिंह जी, पूर्व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *