कोटड़ी की सभी सीमाएं होगी सील, तीन दिन का रहेगा कर्फ्यू

कोटड़ी की सभी सीमाएं होगी सील, तीन दिन का रहेगा कर्फ्यू

कोटड़ी|मेंवाड़ अंचल का सबसे बड़ा जलझूलनी एकादशी पर भरने वाला कोटड़ी चारभुजानाथ का मैला कोरोना महामारी के चलते स्थगित कर दिया गया। साथ ही प्रशासन भी चाकचोबन्द हो कर आगामी 28 अगस्त से तीन दिन तक संपूर्ण लॉकडाउन व कर्फ्यू के चलते बाहर से काई भी व्यक्ति का कोटड़ी में प्रवेश नहीं हो सकेगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार, मेवाड़ अंचल का सबसे बड़ा जलझूलन महोत्सव पर गणेश चतुर्थी से 9 दिन तक भरने वाला मैला कोविड-19 के कारण स्थगित कर दिया गया। जिला कलेक्टर के निर्देशों से आगामी 28 अगस्त से 30 अगस्त तक कोटड़ी मुख्यालय की सभी सीमाएं सील हो कर तीन दिन उपखण्ड क्षेत्र में लॉकडाउन एवं कर्फ्यू रहेगा। इसके कारण बाहर से पदयात्री एवं श्रद्धालू भी नहीं पंहुच सकंगे। प्रशासन की सख्ती को देखते हुए चारभुजा मन्दिर ट्रस्ट ने भी कोटड़ी जलझूलन महोत्सव को निरस्त कर मैले को स्थगित करने का निर्णय लिया है। अब इस वर्ष गणेश चतुर्थी पर शोभायात्रा व अखाड़ा प्रदर्शन, सामूहिक कार्यक्रम के साथ ही मैले में कावड़ यात्रा, कवि सम्मेलन में हंसी के फंव्वारे, बगड़ावत, सुन्दरकाण्ड का पाठ, हरिबोल प्रभात फैरियों का संगम एवं भजन संध्या में भजनों का आनन्द नहीं ले पाएंगे। श्रीचारभुजा मन्दिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नाथू लाल लढ़ा, उपाध्यक्ष गोविन्दराम गाड़ोदिया, सचिव श्यामसुन्दर चेचाणी ने बताया कि जलझूलनी पर आयोजित होने वाला मैला स्थगित होने से किसी भी प्रकार के आयोजन नहीं हो पाएगे। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मंगलवार को आयोजित वीसी में प्रशासनिक अनुमति नहीं मिल पाई जिसके कारण आयोजन भी स्थगित किए गए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here