राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर हाई अलर्ट पर अयोध्या, इन गतिविधियों पर रोक,12 स्थानों पर रूट डायवर्जन

अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश प्रतिबंधित

बाहरी वाहनों व रोडवेज बसों की भी चेकिंग

 

अयोध्या में राम मंदिर शिलान्यास समारोह की तैयारियां जोरों पर है। हाई अलर्ट के तहत सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंध की जा रही है। कोरोना के बचाव के लिए प्रोटोकॉल पर जोर है। कार्यक्रम के दिन भीड़ को नियंत्रित बाहरियों के प्रवेश पर रोक लगाते हुए 12 स्थानों पर रूट डायवर्जन किया जाएगा। एक स्थान पर 5 से अधिक लोगों को इकट्ठा नहीं होने दिया जाएगा।

पांच अगस्त को राम भूमि पूजन के लिए पीएम मोदी अयोध्या आ रहे हैं। कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंध किया जा रहा है। अयोध्या एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि राम मंदिर के शिलान्यास समारोह को लेकर जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात रहेगी। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। एक स्थान पर 5 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। 12 स्थानों पर रूट डायवर्जन की भी योजना है। अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर तीन अगस्त से पाबंदी लगा दी गई है। पहचान पत्र के अभाव में किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।

प्रशासनिक व पुलिस अफसरों की और से तैयार किया जा रहा सुरक्षा खाका बेहद सख्त है। फिलहाल कोविड -19 की वजह से श्रावणी पूर्णिमा पर्व यानी तीन अगस्त से किसी भी बाहरी श्रद्धालु, व्यक्ति, समूह या फिर आमजन को अयोध्या में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी। सभी बैरियरों पर सुरक्षा घेरा बेहद सख्त है लेकिन प्रशासनिक व पुलिस अफसरों की ओर से तैयार किए गए सुरक्षा व्यवस्था के अनुसार यह प्रतिबंध श्रावणी पूर्णिमा पर्व तक ही नहीं वरन आगे भी चार व पांच अगस्त को लागू रहेगा। तीन अगस्त के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम के दृष्टिगत अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।
अभी से सभी बैरियर, मोर्चों व बार्डर चौकियों पर पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है।

बाहरी वाहनों व रोडवेज बसों की भी चेकिंग की जा रही है। यात्रियों के परिचय पत्र भी देखे जा रहे हैं। सख्ती का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि अयोध्या सिटी सर्किल में भी प्रवेश करने वालों की जांच अभी से हो रही है। आधार कार्ड जैसे सरकारी पहचान पत्र व दस्तावेज देखे जा रहे हैं। संदग्धिों की तलाश में होटल, धर्मशाला जैसे सार्वजनिक स्थलों पर भी गोपनीय जांच जारी है। बाहर से आकर जिले में रुके यात्रियों की मंशा को सुरक्षा एजेंसी भांपने की कोशिश कर रही हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार बरती जा रही सख्ती सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट व कोविड- 19 से बचाव के दृष्टिगत हैं।

 

IBN NEWS अयोध्या ब्यूरो चीफ सत्यम सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

सरकार के खिलाफ सपा का जोरदार प्रर्दशन एसडीएम को सौपा 9 सूत्रिय ज्ञापन चिलकहर(बलिया)समाजवादी पार्टी रसड़ा द्वारा 9 सूत्रिय मांगो को लेकर रसडा तहसील पर सोमवार को लखभग पांच सौ कार्यकर्ताओ के साथ प्रर्दशन किया गया।वही उपजिलाधिकारी मोतीलाल यादव को राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौपां गया। ज्ञापन मे कोरोना से त्रस्त पूरा देश है किन्तु उपचार की व्यवस्था नही है।सरकारी तन्त्र पूरी तरह भ्रष्टाचार मे डूबा हुआ है।गरीबो की बात कोई सुनने वाला नही है।गरिबो पर पुलिस का जुल्म बढ़ गया है।खाद बीज व डीजल का मूल्य बढ़ गया है।अनाज का दाम घट गया हैं।सरकारी प्रतिष्ठान निजी हाथो में बेचे जा रहे है।बेरोजगारी बढ़ रही है।रोजगार खत्म हो रहा है जल जमाव के कारण किसानो की फसल नष्ट हो गयी है।जल निकासी की त्यवस्था तत्काल हो।रसडा मे बिजली व्यवस्था ठीक की जाय।प्रदेश मे अराजकता व हत्याओ को रोका जाय। तुरन्त यथोचित कार्य हो वही एनएन व अन्य क्षतिग्रस्त सड़को को तत्काल ठीक कराया जाय।ज्ञापन देने वालो मे रामेश्वर पान्डेय, चंद्शेखर सिंह,पूर्व विधायक छोटेलाल राजभर, विजय शंकर यादव,संजय यादव,अभिषेक तिवारी,बलवंत यादव,।उपजिलाधिकारी ने उक्त ज्ञापन को उचित माध्यम से राज्यपाल को भेजवाने कार्य किया। फोटो रसड़ा तहसील पर प्रर्दशन करते सपा कार्यकर्ता व नेताशगण

WhatsApp For any query click here