अयोध्या -तहसीलदार ने अधिवक्ताओं द्वारा लगाए गए आरोपों को कहा बेबुनियाद

मवई अयोध्या – रूदौली के अधिवक्ता उस समय भड़क गए जब उन्हें मालूम हुआ कि तहसीलदार न्यायिक ने एक विवादित पत्रावली में ग़लत तऱीके से आदेश पारित कर दिया।इस सूचना के बाद अधिवताओं ने तहसीलदार न्यायिक का अनिश्चित कालीन बहिष्कार कर दिया।
बार एसोसिएशन रूदौली के अध्यक्ष कुलभूषण यादव ने बताया कि ग्राम टीकर की विवादित पत्रावली धनपता बनाम सीतापति का बार एसोसिएशन द्वारा गठित कमेटी जिसमें इन्द्रसेन मिश्रा,चौधरी अजीमुद्दीन व अम्बिका प्रसाद यादव शामिल थे ने पत्रावली का बीते 17 अगस्त को मुआयना किया था तबतक इस पत्रावली में बाज़दायर पर कोई आदेश नही पारित था।उन्होंने आरोप लगाया कि तहसीलदार न्यायिक ने गलत तरीके से बैक डेट में 14 अगस्त को ही आदेश पारित कर दिया।तहसीलदार न्यायिक के इस तरह के कार्य से अधिवताओं में आक्रोश है।अध्यक्ष ने बताया कि जबतक तहसीलदार न्यायिक अपने कृत्य के लिए क्षमा याचना नही कर लेती तथा तहसीलदार न्यायिक के पेशकार का स्थानांतरण नही हो जाता तब तक सभी अधिवक्तागण इनके न्यायालय के कार्यों का बहिष्कार करेंगे।इस सम्बंध में तहसीलदार न्यायिक प्रज्ञा सिंह ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।

संवाददाता – मुदस्सिर हुसैन आईबीएन न्यूज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here