बाराबंकी: नहीं आए परिवारीजन, लावारिस में अंतिम संस्कार

नहीं आए परिवारीजन, लावारिस में अंतिम संस्कार
बाराबंकी : पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बावरिया गिरोह के दो बदमाशों के परिवारीजन दूसरे दिन भी नहीं पहुंचे। जिसके चलते पुलिस ने रविवार को दो डॉक्टरों के पैनल से वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम कराया है। समाजसेवा के तौर पर लावारिस शव का अंतिम संस्कार कराने वाले शहर के एक व्यक्ति ने दोनों बदमाशों के शव का अंतिम संस्कार कराया।
मालूम हो कि रामनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत मरकामऊ-चौकाघाट रोड पर स्थित कटका का पुल किनारे छह जुलाई की रात पुलिस ने मुठभेड़ में बावरिया गिरोह के दो सदस्यों को मार गिराया था। जबकि उनके चार साथी भाग निकले थे। मृतकों में कानपुर जिले के बिल्हौर थाना क्षेत्र के मकनपुर नई ईदगाह निवासी मुशीर पुत्र अहमद और उन्नाव जिले के पारा थाना क्षेत्र अंतर्गत मौरावां निवासी इमरान उर्फ इब्राहिम पुत्र रजी शामिल थे। इनकी मौत की सूचना पुलिस ने जेल में बंद परिवारीजन को भी सूचना भेजवा दी थी। खानाबदोश होने के कारण उनके परिवार को अन्य कोई सदस्य नहीं मिला। जिसके कारण पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमॉर्टम रुकवा दिया था कि हो सकता है कि सूचना पाकर उनके परिवारीजन आ जाएं। रविवार शाम तक परिवारीजन के ना आने पर पुलिस ने दो डॉक्टरों के पैनल से वीडियोग्राफी के बीच शव का पोस्टमार्टम कराया। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान एसओ सफदरगंज पीके ¨सह की वहां डयूटी लगाई गई थी।
इब्राहिम को लगी थी दो गोली : पोस्टमॉर्टम में इब्राहिम को दो गोली लगने की पुष्टि हुई है। इब्राहिम के एक गोली पैर में व दूसरी सिर में लगी थी। वहीं मुशीर के केवल सिर पर ही गोली लगी थी। तीनों गोलियां दोनों के शरीर को पाकर करते हुए निकल गई थीं।
अतिकुर्रहमान ने कराया अंतिम संस्कार : पोस्टमॉर्टम के बाद रेलवे स्टेशन पर स्थित मस्जिद निवासी अतिकुर्रहमान दोनों शव का अंतिम संस्कार कराने के लिए पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे। अतिकुर्रहमान लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कराते हैं। उन्होंने बताया कि दोनों शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here