BHUMIPUJANAYODHYA- रामधुन में मग्न सरयू नगरी, श्रद्धा में सराबोर अयोध्या, रामनगरी में गूंज रही सोहर, हर घर उत्सव का माहौल

[box type=”shadow” align=”aligncenter” class=”” width=””]

 

IBN NEWS रिपोर्टर अयोध्या रिपोर्टर अभिषेक सिंह

राममंदिर के भूमि पूजन की तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं। 5 अगस्त का दिन ऐतिहासिक होने जा रहा है, ऐसे में इसके लिए विशेष तैयारियां की गई हैं। पूरी अयोध्या को सजाया गया है। दीवाली जैसा माहौल है। सरयूनगरी केसरिया रंग से सजी है। कहीं थाइलैंड के मनमोहक फूल, कहीं गेंदे के पीले फूलों की लड़ी तो कहीं और रंग-बिरंगे फूल अपनी महक से सम्मोहित कर रहे हैं। गलियों में हलवाईयों की दुकानों से उठ रहे मोतीचूर और बेसन के लड्डू की महक मदहोश कर रही है। कहीं रामचरित मानस का अखंड पाठ हो रहा है तो कहीं ढोलक खंजरी पर सोहर गूंज रही है। गलियों से महिलाओं के खिलखिलाने की आवाजें आ रही हंै। तो मंदिरों से साधुओं का रामनाम जाप हो रहा है। कोई कलश सजाने में मग्न है तो कोई दरवाजे पर रामनाम की पट्टिका टांग रहा है। हर ओर राम का नाम गूंज रहा है। सभी को भूमि पूजन का इंतजार है।

जयश्रीराम का उद्घोष

▪️राममंदिर के शिलान्यास और भूमि पूजन समारोह से अंजान छोटे बच्चे पिपहरी बजा रहे हैं। बीच-बीच में अचानक जयश्रीराम के नारे से पूरा वातावरण गूंज उठता है। जयश्रीराम के उद्घोष के वक्त लोगों के कदम जहां के तहां ठहर जाते हैं। सभी श्रद्धा से नतमस्तष्क हो उठते हैं। छतों की मुंडेर पर अन्य दिनों की अपेक्षाकृत कुछ ज्यादा भीड़ है।

राम नाम शोर उठते ही सुरक्षा में तैनात जवान चौकन्ने हो उठते हैं। हर कोने पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था है। सुरक्षाकर्मी हर आने-जाने वालों को कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का भी पाठ पढ़ा रहे हैं। रामलला परिसर के साथ ही अयोध्या के सैकड़ों मंदिर भी दमक रहे हैं।

घर-मंदिर पर तो बिजली की सजावट है ही। सरकारी इमारतें भी सजी हैं। सरयू का किनारा भक्तों की आस्था से सराबोर है। एक आंकलन के अनुसार तमाम मनाही के बावजूद एक लाख बाहरी लोग भी इस ऐतिहासिक क्षण का गवाह बनने के लिए अयोध्या पहुंचे हुए हैं। उनके लिए यह एक उत्सव है। शहर, घाट और घर-मंदिर को दीयों से रोशन करने की तैयारियां शुरू हो गयी हैं। सूरज ढलते ही पूरा शहर रोशनी से नहा उठेगा। मंगलवार को छोटी दिवाली मनेगी। शिलान्यास के बाद बुधवार को रामलला का शहर तो जगमग होगा ही पूरा देश रोशन हो उठेगा।

गूंज रहीं नृत्य नाटिका की घंटियां

▪️अयोध्या में सरयू घाट पर शाम होते ही आंजनेय सेवा संस्थान 2100 दीपों की महाआरती करेगा। कई मंदिरों में सोमवार से ही दीपोत्सव शुरू हो चुका है। तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने 5100 दीप जलाए तो उदासीन ऋषि आश्रम में हफ्तेभर से दीप जलाकर मंदिर निर्माण की शुरुआत की खुशी मनाई। शाम होते ही तमाम मंदिरों में रामलला से जुड़ी नृत्य नाटिकाएं भी शुरू हो जाएंगी। दिन में भी कई मंदिरों में नाटकों की घंटियों और घुंघरू की आवाज गूंजती रही।

5100 कलश तैयार

▪️भूमि पूजन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वागत के लिए 5100 कलश तैयार किए गए हैं। कुछ कलश भूमि पूजन में इस्तेमाल होंगे और कुछ कलश को जहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला गुजरेगा वहां पर सड़क के दोनों किनारों पर रखा जाएंगे।

सरयू दर्शन करेंगे पीएम

▪️पीएम मोदी जब अयोध्या पहुंचेंगे, तब सरयू दर्शन, पूजन, आचमन करेंगे। फिर वह हनुमानगढ़ी आएंगे और यहां हनुमानजी के दरबार में दर्शन पूजन परिक्रमा करेंगे। यहां पीएम मोदी को आशीर्वाद और मान स्वरूप साफा बांधा जाएगा साथ ही गदा सौंपी जाएगी।

अंसारी देंगे साफा

▪️पीएम मोदी का स्वागत करने वालों में बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी भी रहेंगे. इस दौरान वो पीएम मोदी को रामचरितमानस, राम नाम का साफा देंगे।

घरों में रहने की अपील

▪️ट्रस्ट की ओर से अपील की गई है कि अधिक लोग भूमि पूजन स्थल पर ना आएं, अपने घरों में रहकर दीये जलाएं और राम नाम का पाठ करें. कोरोना संकट के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है।

मंगलवार से भाद्रपद शुरू

▪️4 अगस्त मंगलवार से भाद्रपद शुरू हो रहा है। भाद्रपद यानी भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव और भगवान श्री गणेश का घर-घर आगमन। यानी राममंदिर के शिलान्यास के साथ ही उत्सव का माहौल होगा

[/box]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here