Breaking News

बिग ब्रेकिंग: जिला प्रसासन ने किया मास्टर विजय सिंह को आवास विकास में आवास आवंटित

रिपोर्ट अनुराग चौधरी ibn24x7news मुज़फ्फरनगर

अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह ने बताया कि मास्टर विजय सिंह जो कई वर्षो से जनपद मुजफ्फरनगर के कलैक्ट्रेट परिसर में धरनारत थे। उनकी शिकायत थी कि ग्राम चैसाना जो अब जनपद शामली मे है की तहसील कैराना परगना बिडोली में 12 लोगों के नाम राजस्व अभिलेखो में फर्जी दर्ज है। उनकी शिकायत के आधार पर उप जिलाधिकारी कैराना ने प्रतिवादीगण के नाम खारिज कर 2007 में भूमि ग्राम सभा को दे दी। प्रतिवादीगण द्वारा इस आदेश के क्रम में मा0 न्यायालय राजस्व परिषद में अलग अलग निगरानी दायर की।

राजस्व परिषद द्वारा 2007 में ही उप जिलाधिकारी कैराना के आदेश निरस्त कर दिये गये। जिसके कारण प्रकरण अभी विचाराधीन है। इसके अलावा प्रतिवादीगण ने सिविल न्यायालय प्रथम शामली में वाद दायर किया। प्रतिवादीगण ने सिविल न्यायालय शामली से मई 2019 से इस पर स्थगन आदेश प्राप्त कर रखा है

मास्टर विजय सिंह कलैक्ट्रेट परिसर मुजफ्फरनगर में कई वर्षो से धरनारत थे उनक मांग थी कि भूमि कब्जा मुक्त कराई जाये और उसका भौतिक सत्यापन कराया जाये। चूकि प्रकरण मा0 राजस्व परिषद में विचाराधीन है तथा स्थगन आदेश प्रभावी है ऐसे में जनपद मुजफ्फरनगर से कार्यवाही अपेक्षित नही है।

चूंकि सभी वाद व्यक्तियों द्वारा योजित कियेे गये है ऐसे में प्रकरण न्यायिक है और इसका निस्तारण न्यायालय प्रक्रिया से ही हो सकता है। मा0 विजय सिंह के भौतिक सत्यापन के प्रार्थना पत्र पर जनपद शामली के द्वारा मा0 अध्यक्ष राजस्व परिषद के आदेशानुसार अपने क्षेत्र के अन्तर्गत भौतिक सत्यापन की कार्यवाही की जा रही है जिलाधिकारी शामली से भी अनुरोध किया जायेगा कि आख्या राजस्व परिषद को भेज दे। आज मास्टर विजय को कलैक्ट्रेट परिसर जहां वह धरनारत थे|

उस स्थान को खाली करने के लिए यह कहा गया कि आपका प्रकरण चूकि न्यायालय में विचाराधीन है तथा भौतिक सत्यापन गतिमान है। मास्टर विजय के धरनास्थल के खाली करने के उपरान्त उन्हे अस्थाई रूप से उनके रहने के लिए कांशीराम आवास को तात्कालिक व अस्थाई रूप से आवंटन की कार्यवाही भी जा रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

× For any query click here ( IBN )