बीपी मंडल पिछड़े, दलित, बहुसंख्यक वर्ग के युवाओं के मसीहा थे – चंदन यादव

मिर्जापुर । समाजवादी युवजन सभा के राष्ट्रीय सचिव चंदन यादव के नेतृत्व में आज मिर्जापुर जनपद में आरक्षण के मसीहा बीपी मंडल का जयंती मनाया गया और जिलाधिकारी मिर्जापु को ज्ञापन दिया ।चन्दन यादव ने कहा देश – प्रदेश एवं बिहार के पिछड़े वर्ग के प्रथम मुख्यमंत्री स्व. बिन्देश्वरी प्रसाद मंडल की 102 वीं जयंती है। पुर्व मुख्यमंत्री बीपी मंडल दबे ,कुचले, शोषित ,वंचित, पिछड़े दलित बहुसंख्यक वर्ग के युवाओं के मसीहा है।पिछड़ों, गरीबों, शोषितों को संविधान के अनुसार आरक्षण का लाभ देने के लिए सन् 1978 में जनता पार्टी की सरकार में गठित आयोग के अध्यक्ष स्व बिन्देश्वरी प्रसाद मंडल ने गठन की थी।और सन् 1990 में जनता दल की सरकार ने मंडल कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार 27 प्रतिशत पिछड़ों को आरक्षण देने का फैसला किया। समाजवादी पार्टी पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों, अनुसूचित जनजाति शोषितों के हितों के लिए हमेंशा संघर्ष किया है। और आगे करता रहेगा
मिर्जापुर डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष गंगा प्रसाद यादव ने स्व.बीपी मंडल के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि स्व मंडल गरीबों, दलितों, शोषितों के लिए हमेंशा संघर्ष किया। इनका जन्म सन् 1918 मधेपुरा बिहार में मुरहो गॉव के जमींदार परिवार में हुआ। वे आजादी के बाद सन् 1952 में विस सदस्य बने। सन् 1968 में अविभाजित बिहार प्रदेश के पिछड़े वर्ग के प्रथम मुख्यमंत्री हुए। उन्होंने शोषितों की लड़ाई लड़ने के लिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।भाजपा पिछड़ों, दलितों के आरक्षण को समाप्त करने पर तुली हुई है।उक्त कार्यक्रम में उमाशंकर यादव वरिष्ठ मंडल उपाध्यक्ष यादव महासभा, अजय सिंह सचिव, विनोद यादव उपाध्यक्ष, डिंपल यादव ,अभिषेक कुमार एडवोकेट ,सचिन यादव एडवोकेट ,विमल चंद एडवोकेट ,सुरेश यादव एडवोकेट ,नितिन यादव एडवोकेट इत्यादि लोग उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here