चंदौली : डीएम साहब ध्यान दें…आपके जनपद में ऐसा इलाका जहां के किसान 15 वर्षों से सिंचाई के पानी से महरूम हैं..

 

ब्यूरो रिपोर्ट ओ पी श्रीवास्तव IBN NEWS चंदौली

धान के कटोरे की संज्ञा से सुशोभित जनपद चंदौली में लोगों की आजीविका का मुख्य स्रोत खेती-बाड़ी व किसानी है। कृषि प्रधान जनपद के किसान खड़ी फसल की सिंचाई कार्य से महरूम हैं, यह बड़ा ही कष्टकारी प्रश्न है। जबकि जिला प्रशासन लगातार सिंचाई की उपलब्धता सुनिश्चित करने को नहरों एवं माइनरों की साफ-सफाई को निर्देश जारी करता रहता है। लेकिन इसके बावजूद किसानों की इस बड़ी समस्या का हल न निकलना जिला प्रशासन की कार्रवाइयों पर प्रश्नचिन्ह लगाता है।
ताजा तस्वीरें जनपद के केराडीह माइनर की हैं। जहाँ स्थित ठेकहां और बड़गांवा गांव के किसान 15 वर्षों से सिंचाई के साधन की उपलब्धता के पश्चात भी सिंचाई के लिए पानी से महरूम हैं। सिंचाई के साधन की उपलब्धता होने के पश्चात भी यदि किसान निजी साधनों से सिंचाई कार्य करने को मजबूर हों तो जिला प्रशासन की कार्रवाइयों पर बड़ा सवाल उठना लाजिमी है।
मंगलवार को किसान विकास मंच के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं द्वारा केराडीह माइनर की झाड़ झंखाड़ से पटी स्थिति का जायजा लिया। किसान विकास मंच के कार्यकर्ताओं ने बताया कि यह माइनर कर्मनाशा लेफ्ट कैनाल का पहला माइनर है। इसके बावजूद उपेक्षित है। झाड़ झंखाड़ से इस कदर पटा है कि 15 वर्षों से इसमें पानी ही नहीं आता। किसान विकास मंच के कार्यकर्ताओं ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अब किसान आंदोलन के मूड बना लिए हैं।

यदि विभाग इस माइनर की साफ-सफाई कराकर पानी पहुंचाने में नाकाम रहता है तो किसान नहर पाटो अभियान चलाएंगे। इस दौरान किसान विकास मंच के संगठन मंत्री रामअवध सिंह ने कहा कि यदि समस्या का शीघ्र निवारण नहीं हुआ तो किसान आंदोलन की राह अपनाते हुए सिंचाई मंत्री व कृषि मंत्री के पुतले फूंकने को बाध्य होंगे। इस दौरान साहब सिंह चौहान, सतीश चौहान, जुबेर अहमद,दशमी मौर्य सहित अन्य उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here