चन्दौली : जनपद में अभी तक मात्र 11 सार्वजनिक शौचालय बनें, प्रभारी मंत्री ने जताई नाराजगी… दिए कड़े निर्देश

 

ब्यूरो रिपोर्ट ओ पी श्रीवास्तव IBN NEWS चंदौली

राज्य मंत्री, ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्त्रोत विभाग उ0प्र0 एवं जनपद के प्रभारी मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल द्वारा जिले में कोरोना वाइरस (कोविड-19) से बचाव नियंत्रण रोकथाम सहित जिले में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों संग सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुये सम्पन्न हुयी। बैठक के दौरान कोरोना वाइरस की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए किए जा रहे कार्यो की समीक्षा करते हुए जिला अस्पताल में कोविड अस्पताल, आईसोलेशन वार्ड, कोरोना टेस्टिंग के संबंध में मुख्य चिकित्साधिकारी से विस्तृत जानकारी ली।


जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को हर हाल में ओवरलोड वाहनों के संचालन पर लगाम लगाने के निर्देश दिए। पीडब्ल्यूडी एक्सईएन से सड़कों के मरम्मत की रिपोर्ट मांगी। जिले में अभी तक मात्र 11 सामुदायिक शौचालयों के निर्माण पर नाराजगी जताई। पेयजल परियोजनाओं व सामुदायिक शौचालयों का निर्माण शीघ्र पूरा कराने के निर्देश दिए। कहा, सामुदायिक शौचालयों के निर्माण में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। स्वच्छता, स्वास्थ्य व पोषण मिशन सीएम की प्राथमिकता में शामिल हैं।

इसमें किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। खेती के पीक सीजन में नहरों में टेल तक पानी पहुंचना चाहिए। वहीं किसानों के लिए खाद की उपलब्धता हमेशा बनी रहे। डिमांड के अनुसार जिलों में खाद भेजवाई जा रही है। बोले, वैश्विक महामारी के दौर में आर्थिक मंदी की वजह से विकास कार्य बाधित हो गए थे।

आर्थिक व सामाजिक गतिविधियां प्रभावित हुई। मुख्यमंत्री विकास के मुद्दों को लेकर गंभीर हैं। विकास का पहिया अब नहीं थमेगा। कोरोना मरीजों का सही ढंग से इलाज किया जाए। वहीं अधिक से अधिक लोगों के सैंपल लिए जाएं। ‘दो गज की दूरी, मास्क जरूरी’ का फार्मूला काफी कारगर है।

प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को निदेर्शित करते हुये कहा जिला प्रशासन व पुलिस विभाग का समन्वय बनाकर जो कोरोना माहामारी के दौरान गरीबों में राशन,पानी एवं अन्य जरूरी सामानों को उपलब्ध कराया जा रहा यह काफी सराहनीय है। आगे भी सभी को मिलकर जनपद के लोगों के बीच जाकर कोराना महामारी के खिलाफ डर के नही, डट के लड़ने के लिए प्रेरित करना है ताकि लोग दो गज की दूरी को बनाकर एवं मास्क पहनकर अपने जरूरी कार्यो को करते रहे।

प्रभारी मंत्री ने सम्बोधित करते हुये कहा कि प्रदेश सरकार इस कोरोना वैश्विक माहामारी में अन्तिम पायदान तक बैठे लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराकर लाभान्वित किया जा रहा। श्रमिकों को आपदा राहत सहायत योजना के अन्तर्गत धनराशी डीबीटी के माध्यम से भेजकर लाभान्वित किया गया। साथ ही अन्य योजनाओं में भी मुख्यमंत्री द्वारा आम जनमानस के हित को देखते हुये विभिन्न निर्णय लिया गया है। कोरोना माहामारी में हर मानव को बचाना प्रदेश सरकार सकल्पित है।

ऊर्जा मंत्री ने जनपद के नागरिकों से अपील करते हुये कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से बचने के लिए नियमित रूप से साबुन और पानी से हाथ धोएं, फेसकवर/मास्क का प्रयोग करे, खाॅसते या छीकते समय नाक और मुॅह टिशू या कोहनी से ढकें, जिस व्यक्ति में खाॅसी, जुकाम या बुखार के लक्षण हों उससे उचित दूरी बनाएं, सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें व सुरक्षित रहें। यदि किसी को कोरोना वाइरस से संबंधी कोई लक्षण प्राथमिक स्तर पर दिखायी दें तो तुरन्त जाॅच कराये इसमें कत्तई देरी न करें, जिससे समय से इलाज कराया जा सकें। बैठक के अन्त में जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने अधिकारियों को संम्बोधित करते हुये कहा कि प्रभारी मंत्री द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन सुनिश्चित करेगें। जिलाधिकारी द्वारा मंत्री रमाशंकर पटेल का आभार जताते हुये बैठक समाप्त किया गया।

बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक हेमन्त कुटियाल, मुख्य विकास अधिकारी डा0 एके श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी अतुल कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी, उपजिलाधिकारी सदर विजय कुमार सिंह, सहित सभी अधिशासी अधिकारी एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here