Breaking News

कार्य संस्कृति में बदलाव लायें अधिकारी-प्रभारी मंत्री श्री साहू 

रिपोर्ट घासीराम पात्र ibn24x7news छत्तीसगढ़

खेल मैदान के नाम पर गांवों में आरक्षित रखे जमीन

कुल्हाड़ीघाट को माडल गांव के रूप में विकसित किया जायेगा

किसानों को किसी भी प्रकार की न हो परेशानियां 

प्रभारी मंत्री श्री साहू ने अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक

गरियाबंद, 18 अगस्त 2019/प्रदेश के लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, पर्यटन मंत्री तथा गरियाबंद जिला के प्रभारी मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला प्रमुख अधिकारियों की बैठक में विभागीय कार्यो की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने कार्य संस्कृति में बदलाव लायें ।

कृषि प्रधान प्रदेश में जिले के किसानों को किसी भी प्रकार की परेशारियां न हो। राजस्व विभाग के अधिकारी जिले के प्रत्येक गांव में खेल मैदान के नाम पर जमीन आरक्षित रखें। जिले के कुल्हाड़ीघाट को माॅडल गांव के रूप में विकसित किया जायेगा। इसके लिए सभी विभाग के अधिकारी आपसी समन्वय के साथ टीमवर्क के रूप में काम करना सुनिश्चित करें। बैठक में पूर्व मंत्री एवं राजिम विधायक श्री अमितेश शुक्ल, बिन्द्रानवागढ़ विधायक श्री डमरूधर पुजारी, कलेक्टर श्री श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक श्री एम.आर. आहिरे भी मौजूद थे।

प्रभारी मंत्री श्री साहू ने कहा कि सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन विभागों द्वारा बेहतर ढंग से हो इसके लिए अधिकारियों को  अपने कार्य संस्कृति में बदलाव लाना होगा। उन्होंने कहा कि अधिकारी आपसी विभागीय समन्वय के साथ बेहतर ढंग से कार्य करें। अधिकारी क्षेत्र से संबंधित कार्यो का पहले से कार्य प्रस्ताव बनाकर अवगत करायें। उन्होंने कहा कि अधिकारी भविष्य को ध्यान में रखते हुए अभी से कार्य योजना तैयार रखे। निर्माण कार्य एजेन्सी विभाग कार्यो की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देवें। अधिकारी निर्माण कार्यो का एस्टीमंेट स्वयं तैयार करें। कार्य की पूरी जिम्मेदारी निर्माण कार्य एजेन्सी विभाग के अधिकारियों की होगी।

प्रभारी मंत्री श्री साहू ने प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना नरवा,गरवा, घुरूवा,बारी के तहत पशुधन विकास, जल संचयन, जैविक खाद और सब्जी फसलों से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजदूरी प्रदान करने के कार्यो को बढ़ावा देने कहा। उन्होंने गांवो में मनरेगा कनवर्जंेश कार्यो  में नहर-नालियां पिचिंग , छोटी तालाब निर्माण, जल संचयन के कार्य, भवन विहीन आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए भवन निर्माण के प्रस्ताव को शामिल करने कहा। उन्होंने कहा कि राजस्व विभाग के अधिकारी फसल गिरदावरी पर विशेष ध्यान देवे।

इसके लिए हल्का पटवारी, पंचायत सचिव और कृषि विभाग के मैदानी अमले को गांव के हर खेत में जाकर जानकारी तैयार करना होगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि फसल गिरदावरी सही होने पर किसान अपनी बोये गए निर्धारित रकबा से अधिक फसल नहीं बेच सकेंगे। प्रभारी मंत्री श्री साहू ने जिले में खनिज न्यास निधि राशि उपयोगिता की समीक्षा करते हुए अवगत कराया कि उक्त राशि का उपयोग पेयजल, शिक्षा, स्वास्थ्य व कुपोषण मुक्ति पर किया जायेगा।

उन्होंने जिले में वन की सघनता को ध्यान में रखते हुए वन विभाग के अधिकारियों को लघुवन प्रसंस्करण के कार्यो को प्राथमिकता देने की बाते कही। साथ ही वनमण्डाधिकारी को कार्यो के संबंध में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को गांव में गौठान निर्माण के अलावा ग्रामीणों की अन्य उपयोगिता के लिए खेल मैदान के नाम पर शासकीय जमीन आरक्षित रखने निर्देशित किया। इसी प्रकार अधिकारियो को जिले में पर्यटन स्थल हेतु स्थान चिन्हांकित कर इसे विकसित करने प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री श्री साहू ने कहा कि जिले के कुल्हाड़ीघाट गांव को माॅडल गांव के रूप में विकसित किया जायेगा। उन्होंने मौंके पर ही जिला पंचायत के सी.ई.ओ को उक्त गांव मंे विकास कार्यो के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया।

उन्होेंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को सीमांकन के प्रकरणों को प्राथमिकता से निराकृत करने के निर्देश दिये। ई.आर.ई.एस. को अपूर्ण निर्माण कार्यो को शीघ्र पूर्ण कराने, पी.एच.ई विभाग के अधिकारी को मई-जून माह में पेयजल की समस्या वाले गांवो को चिन्हांकित कर कार्य योजना बनाने और कृषि विभाग के अधिकारियों को मौसम के हिसाब से जिले में फसलचक्र परिवर्तन को बढ़ावा देने हेतु किसानों को प्रेरित करने के निर्देश दिये।

इसी प्रकार विद्युत विभाग के अधिकारी को इंदागांव में 132 के.व्ही. विद्युत उपकेन्द्र बनने के बाद विद्युत डिस्ट्रीब्युशन के लिए 33 के.व्ही और 11 के.व्ही के विद्युत उपकेन्द्र के साथ ही अतिरिक्त ट्रांसफारमर्रो आदि का सर्वे अभी से कर लेने के निर्देश दिये। उद्यानिकी विभाग को जिला मुख्यालय गरियाबंद और तहसील मुख्यालय राजिम में नवीन उद्यान विकसित करने, खादीग्रामोधोग  विभाग को जिले में हस्तशिल्प को बढ़ावा देने जरूरतमंद लोगों को प्रशिक्षित करने तथा मत्स्य विभाग को छत्तीसगढ़ के मूल निवासी मछूवा समूह की समीतियां जो पंजीकृत हो मत्स्य पालन हेतु जलाशय पट्टे पर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

बैठक में पूर्व मंत्री एवं विधायक श्री अमिलेश शुक्ल ने जिले में विकास कार्यो की सत्त माॅनिटरिंग हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करने के सुझाव दिये। वहीं विधायक श्री डमरूधर पुजारी ने अपने सुझाव में योजना क्रियान्वयन हेतु स्थान चयन सहीं करने पर जोर दिया। बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने प्रभारी मंत्री श्री साहू को जिले की सामान्य जानकारी व विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं के संबंध मे अवगत कराया।

कलेक्टर ने बैठक के अंत में अधिकारियों की ओर से प्रभारी मंत्री श्री साहू को आश्वस्त किया कि जिले में उनके मार्गदर्शन व निर्देशों का सभी विभाग के अधिकारी भली-भांति पालन करते हुए शासन की योजनाओं का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से करेंगे। बैठक में जिला पंचायत सदस्य श्रीमती पुष्पा साहू, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती ममता राठौर, जिला पंचायत सी.ई.ओ. श्री आर.के. खुटे, अपर कलेक्टर श्री के.के. बेहार तथा समस्त विभाग के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

About IBN NEWS

It's a online news web channel running as IBN24X7NEWS.

Check Also

आज से चलेंगी ट्रेने, IRCTC की वेबसाइट से ही होगी बुकिंग

दिल्ली से पटना, दिल्ली से राँची,दिल्ली से मुंबई, दिल्ली से जम्मू, दिल्ली से बेंगलुरु, दिल्ली …

CORONA: तो क्या आप फिर से चलेंगे पैसेंजर ट्रेन

हाल ही में रेल मंत्रालय ने एक प्रेस रिलीज जारी कर यह सूचना दी है …

रेलवे रोज 300 ट्रेन चलाने के लिए तैयार: गोयल

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि रेलवे अल्प अवधि सूचना पर भी …

सभी प्रदेशों से आने जाने के लिए यहां करें आवेदन

इस लाकडाउन में यदि आप किसी अन्य प्रदेश में फंसे हैं और अपने घर वापसी …

दो हफ्ते के लिए बढ़ाया लॉकडाउन

मोदी सरकार ने दो हफ्ते के लिए बढ़ाया लॉकडाउन, 17 मई तक जारी रहेगा  लॉकडाउन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page