सांड़ छोड़ने को लेकर हुआ विवाद, दबंगों ने ब्राह्मण के घर में घुसकर की मारपीट

 

IBN NEWS अयोध्या ब्यूरो चीफ सत्यम सिंह

अयोध्या रौनाही थाना क्षेत्र ग्राम सभा पिरखौली के पूरे धौकल पांडेय का पुरवा में बीती रात पप्पू सिंह के गुर्गे रणविजय सिंह, मतोले सिंह उर्फ रणविजय पुत्रगण, अवधेश सिंह, सूर्य प्रताप सिंह उर्फ सोनू, मानवेंद्र सिंह उर्फ मोनू, प्रिंसी सिंह, शिवम सिंह पुत्र रणविजय सिंह आकर्षक उर्फ अविनाश पुत्र रणविजय सिंह, विपुल पुत्र सूर्यभानु सिंह, बृजेश पुत्र राम लखन सौरभ पुत्र संतोष, गोलू सिंह व स्वयं पप्पू सिंह ने दो बोलेरो UP 62 AC 8800, एक और बोलेरो में रॉड, लाठी ,कट्टे, आदि भरकर साथ पहुंचे।

और ब्राम्हण समुदाय के लोगो को घर मे घुसकर जम कर मारपीट की, बता दे। कि मामला ग्राम सभा पिरखौली के पूरे धौकल पांडेय का पुरवा द्वारा गाय और सांड छोड़ने गए थे। उसी बात को लेकर जब सोनू पांडेय ने पूछा? यहां क्यों छोड़ने आए हो तो पप्पू के गुर्गों ने सोनू पांडेय को मां बहन बेटियों की भद्दी भद्दी गाली देने की साथ साथ ठाकुरों ने सोनू पांडेय के साथ बहुत ही गलत व्यवहार किया। व मारपीट पर उतारू हो गए थे।

इसी बात को लेकर पप्पू सिंह के लड़के प्रिंस सिंह ने UP 62 AC 8800 गाड़ी बोलेरो व एक अज्ञात बोलेरो, एक बुलेट मोटर साइकिल से लैस सभी गांव के ठाकुरो को बटोर कर पिरखौली गांव पहुंचे। और सभी ने सोनू पांडे के घर में घुसकर तोड़फोड़ व मारपीट किया। जिसमें हमारे सोनू पांडेय परिवार के नितिन पुत्र सत्यनारायण, अवनीश पुत्र कालिका, महेश पुत्र अविनाश, को शरीर में काफी चोट आई है। नितिन के सर और पैर पर गंभीर चोट लगने से बेहोश हो गया। तथा प्रार्थी के पतोह का सोने 5तोला 1 तोला झुमकी व नगद 10000 रुपया छींकर भाग गये।

इस दौरान गांव के लोगों ने शोर सुनकर मौके पर पहुंचकर घेरा। और पुलिस को फोन किया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मारपीट की बोलेरो, लाठी – डंडे, रॉड, मोबाइल, व मोटरसाइकिल वहां पर बरामद हुई। जिसे पहुंचकर हासिल किया गया। पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार किया। बाकी लोग पुलिस को देखकर भाग गए। घटना दिनांक 29/08/2020 को लगभग शाम 7 बजे की है। यहां पर स्थिति बहुत ही दयनीय है। पुलिस एक तरफ से मामले को दबाने की कोशिश कर रही है।

जबकि ठाकुरो द्वारा सोनू पांडे के घर में घुसकर तोड़फोड़ व मारपीट किया। वही देखा जाए तो ठाकुरवाद की नजर से देख रहे हैं। स्थिति बहुत ही गंभीर बनी हुई है। जहां पर जिलाध्यक्ष से लेकर विधायक ,थानाध्यक्ष दरोगा भी ठाकुर सभी ठाकुवादी विचार धारा के तहत एक पक्षीय कार्यवाही कर रहे मामला उपरोक्त सच है लेकिन राजनीतिक दबाव में आकर थानाध्यक्ष जी एक तरफा ठाकुवादी कार्यवाही करते हुए ब्राह्मण परिवार को दबाने की कोशिश कर रहे ब्राह्मण परिवार को न्याय पाना बहुत ही मुश्किल दिखाई दे रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here