साइबर क्राइम सेल मीरजापुर पुलिस

 

युवक के एटीएम कार्ड का विवरण पुछकर अज्ञात व्यक्ति द्वारा धोखाधड़ी करके खाते से निकाले गये कुल 60000 रुपयों को साइबर क्राइम ब्रांच मीरजापुर द्वारा खाते मे वापस कराया गया –

संक्षिप्त विवरण –
दिनांक 09/07/2020 को शिकायतकर्ता श्री संतोष कुमार लैब टेक्निशियन जिला चिकित्सालय मीरजापुर द्वारा पुलिस कार्यालय मीरजापुर मे एक शिकायती प्रार्थना पत्र द्कर बताया गया कि एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा मेरे खाते से संबंधित ए0टी0एम0 कार्ड/सी0वी0वी0 संख्या पुछकर दिनांक- 08/07/2020 को धोखाधड़ी करके कुल 60000 रुपये निकाल लिया गया ।
पुलिस अधीक्षक मीरजापुर के निर्देशन में साइबर क्राइम सेल मीरजापुर द्वारा तत्काल शिकायत का संज्ञान लेते हुए त्वरित कार्यवाही की गयी । जिसके परिणामस्वरुप दिनांक 15/07/2020 को शिकायतकर्ता के खाते में कुल 60000 रुपये वापस प्राप्त हुए । शिकायतकर्ता श्री संतोष कुमार द्वारा मीरजापुर पुलिस तथा साइबर क्राइम टीम की प्रशंसा करते हुए आभार व्यक्त किया गया ।
साइबर क्राइम पुलिस टीम मीरजापुर
1. उ0नि0 श्री मानवेन्द्र सिंह साइबर क्राइम सेल मीरजापुर
2. आरक्षी गणेश प्रसाद गौड़ साइबर क्राइम सेल मीरजापुर
3. आरक्षी मो0 एहसान खाँ साइबर क्राइम सेल मीरजापुर
जनपद मीरजापुर, साइबर क्राइम पुलिस अधिकारी का संपर्क नम्बर-9451082870
आम नागरिकों हेतु ये जानकारी रखना बहुत जरूरी है-
अगर आपको बैंक या बैंक के कॉल सेंटर से जुड़े होने का दावा करने वाले किसी व्यक्ति का कॉल आता है तो उस डिस्प्ले नंबर पर आंख बंद कर बिल्कुल भी भरोसा न करें, यह जान लें कि न ही रिजर्व बैंक से आपके बैंक से इस तरह के कोई कॉल कस्टमर्स को किए ही नहीं जाते हैं।
अगर बैंकिंग से जुड़ा आपको कोई कॉल आता है या कोई व्यक्ति आपसे कुछ करने या बताने को कहता है तो उस व्यक्ति पर भरोसा न करें, ऐसा कुछ करने से पहले रुकें और सोचें, आप सतर्क रहेंगे तो आप परेशान नहीं होंगे।
अगर कोई व्यक्ति आपको Quicksupport, Anydesk, VNC, Ultra VNC, Teamviewer, Ammyy, Seescreen, BeAnywhere, LogMein, RealVNC और Skyfexetc जैसे ऐप को इन्स्टॉल करने को कहे तो यह कतई न करें. यह सारे ऐप धोखाधड़ी के मामलों से जुड़े हो सकते हैं। जो कि ईमेल, टेक्स्ट मैसेज या व्हाट्सऐप के माध्यम से लिंक के रूप में आप के मोबाइल पर भेजे जा सकते है।
अगर आपको ईमेल, टेक्स्ट मैसेज या व्हाट्सऐप से कोई अननोन लिंक मिलते हैं तो आप सावाधान रहें, कभी भी थर्ड पार्टी या अननोन सोर्स के एप्लीकेशन इन्स्टॉल नहीं करें, इससे आप धोखे में पड़ सकते हैं और अपना पैसा गंवा सकते हैं।
इस बात को गांठ बांध कर रख लें कि कभी भी आप अपना एटीएम पिन नंबर, ओटीपी यानी वन टाइम पासवर्ड, CVV को मोबाइल फोन, ईमेल या किसी भी अन्य माध्यम से किसी को न बताये न दिखाये।

पुलिस अधीक्षक
जनपद मीरजापुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here