दरभंगा- दर्दनाक हादसा, नदी में डूबने से एक ही गाँव के तीन बच्चों की मौत

Ibn24x7news रिपोर्ट विजय कुमार शर्मा बिहार

दरभंगा: मब्बी ओपी क्षेत्र के शीशो गांव में मंगलवार को बागमती नदी की तेज धार में बह जाने से तीन बच्चों की मौत हो गई। उनके शव को निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए डीएमसीएच भेजा गया। मृतकों की पहचान शीशो निवासी मो. सोहराब खान के पुत्र तौफिद रजा कादरी(12), अहमद अली अंसारी के पुत्र सुहैल अंसारी (13) और मो. आलमगीर के पुत्र मो. आदिल अंसारी (14) के रूप में की गई है। इनमें से सुहैल व आदिल का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों के हवाले कर दिया गया। वहीं तौफिद के परिजन पोस्टमॉर्टम कराए बिना ही शव को वहां से गांव ले आए। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी शव का पोस्टमॉर्टम कराने के लिए परिजनों को मनाने में जुटे हैं। एक साथ गांव के तीन बच्चों की मौत की खबर सुनकर वहां कोहराम मच गया है।
बताया जाता है कि अन्य दोस्तों के साथ तौफिद, सुहैल व आदिल बागमती नदी के तट पर खेल रहे थे। इसी बीच तीनों पानी में उतरे और वे उफनती नदी की तेज धार में बह गए। तीनों को नदी में बहते देख शोर मचाते हुए उनके दोस्तों ने इसकी सूचना गांव में दी। गांव वालों से सूचना मिलने पर वहां के मुखिया शम्से आलम व सरपंच अरमान खान ने सदर प्रखंड के सीओ राकेश कुमार को जानकारी दी। मब्बी ओपी पुलिस से संपर्क करने के बाद सीओ वहां पहुंचे। तब तक पुलिस भी वहां पहुंच गई। हालांकि उनलोगों के पहुंचने से पहले ही गांव वालों ने तौफिद व सुहैल का शव बाहर निकाल लिया था। दोनों का शव नदी में झाड़ी में फंसा था।
इधर आदिल का पता नहीं चलने पर पुलिस ने एनडीआरएफ की टीम को बुलाया। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद घटलनास्थल से कुछ दूरी पर उसका शव मिला।
सदर सीओ राकेश कुमार ने तीनों बच्चों की मौत होने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि तौफिद के शव का पोस्टमॉर्टम कराने के लिए परिजनों को मनाया जा रहा है। पोस्टमॉर्टम नही कराये जाने पर परिजन सरकार की ओर से मिलने वाले आर्थिक लाभ से वंचित रह जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here