देवरिया: वीएचएनडी सत्र पर बच्चों और गर्भवती का हुआ टीकाकरण बच्चों को दी गई विटामिन ए की खुराक

गर्भवती महिला को दी गयीं आयरन और कैल्शियम की गोलियां

देवरिया: खास स्थित बरई टोला आंगनबाड़ी केंद्र पर बुधवार को आयोजित ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (वीएचएनडी) सत्र में सही पोषण के साथ साफ-सफाई के बारे में जानकारी दी गई। इस अवसर पर बच्चों और गर्भवतियों का टीकाकरण किया गया। इसके साथ ही बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी गई और गर्भवतियों को आयरन व कैल्शियम की गोली दी गयी।
केंद्र पर सुबह नौ बजे ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस( वीएचएनडी) का आयोजन शुरू हुआ। कार्यक्रम में एएनएम वंदना द्वारा फिज़िकल डिस्टेंसिंग का पालन करवाते हुए गर्भवती व बच्चों का टीकाकरण किया गया। आंगनबाड़ी केंद्र पर भीड़ न हो इसको ध्यान में रखते हुए आशा कार्यकर्ता संगीता देवी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मीरा, अंजू गौतम, मीना, कालिंदी व सहायिका सुमन और पुष्प ने ड्यू डेट वाले लाभार्थियों को बारी-बारी से उनके घरों से बुलाया गया। बुधवार को बच्चों और गर्भवती सहित 22 लाभार्थियों की ड्यू डेट थी। जिसमे 12 बच्चों और 5 गर्भवती सहित 17 का टीकाकरण किया गया। इस दौरान गर्भवती में रेखा, संध्या, सरिता, मधुबाला और कुसुम को टीका लगा कर उन्हें आयरन व कैल्शियम की गोली दी गयी। बच्चों में अंश, अजय साहनी, सुधीर मद्देशिया, कृष्णा, मिथिलेश, रितिका, दिव्यांश आदि का टीकाकरण कर विटामिन ए की खुराक पिलाई गई। किशोरियों व गर्भवतियों को एनीमिया से बचने के उपाय बताए गये। वीएचएनडी की प्रतिभागी किशोरी प्रिया कुशवाहा ने बताया कि वह आशा कार्यकर्ता संगीता देवी द्वारा जानकारी मिलने के बाद सत्र में पहुंची जहां आयरन की गोली भी दी गई। गर्भवती और किशोरियों की सेहत पर जोर देते हुए बताया गया कि आयरन फोलिक की गोलियां, हरी साग-सब्जियां, चना-गुड़ का सेवन उन्हें स्वस्थ रखता है।
इस दौरान आंगनबाड़ी सहायिका संगीता मौर्य, मीणा राय, अंजू गौतम, श्रेया, सृस्टि, आयुषी, प्रीति, पूजा सहित अन्य आदि मौजूद रहीं। बच्चों को दी जाये विटामिन ए की खुराक
सीएमओ डॉ. आलोक कुमार पाण्डेय ने बताया बाल स्वास्थ्य पोषण माह के तहत टीकाकरण सत्र में नौ माह से पांच वर्ष तक के बच्चों को विटामिन ए की खुराक पिलाई जा रही है। निमोनिया का टीका नियमित टीकाकरण कार्यक्रम सत्र में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि निमोनिया का टीका लग जाने से बच्चों को अधिक समय तक निमोनिया से होने वाले खतरे से लड़ना नहीं पड़ेगा। इस टीके के आ जाने से निमोनिया, सर्दी, जुकाम, दिमागी बुखार को भी रोका जा सकेगा। बच्चों को पीसीवी का टीका लग जाने से मृत्यु दर में भी 16 प्रतिशत की कमी आएगी। अभी तक बच्चों को नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के तहत बीसीजी, हेपाटाइटिस बी, पेंटावैलट, ओपीवी, रोटावायरस, मिजिल्स रूबेला, विटामिन ए तथा पल्स पोलियो ड्राप नि:शुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here