जिलाधिकारी ने बाढ़ का लिया जायजा,चंदन पट्टी गांव में दो नाव चलाने के दिये निर्देश

बलिया। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने बुधवार को बेल्थरारोड़ के सोनबरसा का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बाढ़ एक्सईएन संजय मिश्रा के साथ सोनबरसा में मझवलिया सोनबरसा बांध में रिसाव को देख रोकने का आदेश दिया। एक्सईएन मिश्रा ने बताया कि 06 किलो मीटर सरजू का एरिया और बेल्थरारोड़ के अंतर्गत 21 गांव आते है जिसमें 09 गांव बाढ़ से प्रभावित होते हैं। बाढ़ एक्सईएन एस0के0 मिश्रा को निर्देश दिए कि टूटे बंधे को मिट्टी और बोरी से रोका जाय। चंदन पट्टी गांव का जायजा लिया और वहा पर मौजूद गांव के ग्रामीणों से बाढ़ के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि लगभग 100 के आस पास आबादी है और 50 गांव बाढ़ से प्रभावित है। वहा पर दो नाव चलाने का निर्देश एसडीएम बेल्थरारोड़ अशोक चौधरी को दिया।

जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने कहा कि बिल्थरारोड तहसील क्षेत्र में नदी के लगातार बढ़ते जल स्तर व जल जमाव की स्थिति को देखते हुए बाढ़ विभाग के अधिकारियों के साथ घाघरा नदी के किनारे के क्षेत्र में दौरा किया गया। इस स्थिति में क्या सहूलियत दिया जा सकता है, इस पर मंथन किया गया। वर्ष 1998 की प्रलयकारी बाढ़ की सम्भावित स्थिति को देखते हुए एक सवाल के जबाब में कहा कि निश्चित रुप से बहुत पहले ही हम खतरेे के निशान से काफी ऊपर आ चुके हैं। इसके लिए तहसील प्रशासन, बाढ़ विभाग, पुलिस व इस क्षेत्र के लोगों को सावधान सतर्क रहने की जरुरत है। आवश्यक तैयारियों को मजबूत रखने की जरुरत है। लोगों से संवाद की जरुरत है। बचाव करने की जरुरत है।

तुर्तीपार के हाहानाला का किया निरीक्षण

—- जिलाधिकारी ने तुर्तीपार के हाहा नाला में बढ़ रहे पानी का निरीक्षण किया। उन्होंने ने वहाँ के प्रधान आलोक सिंह ने बाढ़ के बारे में जानकारी दी, और कहा कि राजभर बस्ती मुजौन गांव बाढ़ से प्रभावित है। प्रभावित लोगों को आने जाने के लिए सड़कों की व्यवस्था व गांव के आस पास पत्थरो का ठोकर की व्यवस्था की जाय। बाढ़ एक्सईएन एस0के0 मिश्रा को निर्देश दिए कि टेक्निकलीय से कार्य कराया जाय। रेगुलेटर चलाने वाले कर्मचारी से बाढ़ के बढ़ते पानी के बारे में जानकारी ली और पूछा कि हाहा नाला का पानी कब और कैसे खोला जाता है उन्होंने बताया कि जब हाहा नाला का पानी जब घटाव पर होता है तभी हाहा नाला का पानी खोला जाता हैं।

जिलाधिकारी ने तुर्तीपार के अंतर्गत ग्राम इंद्रानगर का जायजा लिया। उन्होंने इंद्रानगर गांव बाढ़ के पानी से पूरी तरह दुब गया है। वहा के प्रधान आलोक सिंह से बाढ़ के पानी के बारे में जानकारी ली। उन्होंने ने बताया कि हाहा नाला में तालाबों और अन्य जगहों से पानी आता है, और इस गांव की जनसंख्या लगभग दस हजार और चार हजार वोट भी है। प्रधान से शौचालय के बारे में जानकारी ली। प्रत्येक घर में शौचालय बन चुका है।

डीएसपी हेड का किया निरीक्षण

— जिलाधिकारी ने डीएसपी हेड का निरीक्षण किया। उन्होंने बाढ़ के पानी के गेज की जानकारी ली। वहा पर तैनात कर्मचारी से गेज के बारे में वार्ता की। उन्होने बताया कि सुबह से पानी का बढ़ाव अभी रुका हुआ है और 13 हजार प्रति क्यूमेक्स तथा चार लाख 59 हजार प्रति क्यूसेक है। बेल्थरारोड़ के ईओ बृजेश कुमार गुप्ता पर बहुत नाराजगी जतायी और कहा कि अगर कार्य मे लापरवाही पर बैरिया का चार्ज देने की चेतावनी दी।

हल्दी रामपुर में दीयरा जिम्मेदारी बांध का लिया जायजा

—-जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने विकास खण्ड सीयर के अंतर्गत ग्राम पंचायत हल्दी रामपुर में दीयरा जिम्मेदारी बांध का जायजा लिया और वहा पर बढ़ रहे घाघरा नदी के जल स्तर को देखा और वहा के ग्रामीणों से बाढ़ से सम्बंधित जानकारी ली। डुहा बिहरा में कटान की स्थिति को देखा और ग्राम प्रधान दिनेश राजभर से वार्ता की और कहा कि जहाँ कटान का नजारा है वहा पर बैरियर लगाने को कहा। विकास खण्ड नवानगर के ग्राम कठौड़ा के (मल्लाह टोली) में कटान की स्थिति को देखा और जंगली बाबा उच्च माध्यमिक विद्यालय में साफ सफाई, पानी, शौचालय व बिजली की व्यवस्था कराने का निर्देश एसडीएम सिकन्दरपुर संगम लाल यादव को दिया।

इस निरीक्षण में बाढ़ एक्सईएन एस0के0 मिश्रा, जिला आपदा विशेषज्ञ पीयूष सिंह, एसडीएम सिकन्दरपुर संगम लाल यादव, एसडीएम बिल्थरारोड अशोक चौधरी, तहसीलदार जितेन्द्र कुमार सिंह आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट वरूण चौबे IBN News ब्यूरो बलिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here