इटावा: निजीकरण के खिलाफ एकजुट होकर किसान सभा करेगी प्रदर्शन 26अगस्त को

अंकुर त्रिपाठी IBN NEWS जिला संवाददाता

भरथना/इटावा: जिले में किसान नेता नाथूराम ने कहा कि केन्द्र और प्रदेश सरकारों की किसान,गरीब जनता विरोधी नीतियों के कारण खेती किसानी लगातार घाटे का सौदा बन कर रह गईं है। किसान और गरीब भुखमरी की चपेट में आता जा रहा है। हमें ऐसी सरकारों के खिलाफ फैसलाकुन आन्दोलन चलाने की जरूरत है।
शनिवार की किसान सभा इटावा के पूर्व अध्यक्ष नाथूराम यादव वामपंथी दलों के देशव्यापी विरोध सप्ताह के अंतर्गत भरथना विकास खण्ड क्षेत्र के ग्राम नगला भोज मे आयोजित जनचर्चा के दौरान किसानों को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने किसान और गरीबों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में भरथना सहित पूरे इलाके में विद्युत व्यवस्था वदहाली की शिकार बनी हुई है ऊपर से जिम्मेदार अधिकारी फोन का स्विच ऑफ करलेते हैं। सहकारी समितियां आकण्ठ भ्रष्टाचार में लिप्त हो चुकी हैं। सरकारी यूरिया खाद की उपलब्धता के लिए किसान दर दर भटक रहा है। यूरिया खाद की खुले बाजार कालाबाजारी पर प्रशासन आँखे बन्द किये है। किसान की उत्पादित फसलें मिट्टी मोल खरीदी जा रही है। देश में एक देश एक बाजार नहीं है। जबकि देश को एक देश एक भाव की जरूरत है।
किसान नेता श्री यादव ने सरकारों से नये मंडी कानून,श्रम अध्यादेश,आदि किसान और गरीब की जनविरोधी नीतियों को तत्काल वापस लेने की मांग की है।
किसान सभा के जिला अध्यक्ष रामप्रकाश गुप्ता ने कहा कि लाकडाउन की आड़ में वर्तमान में सरकार किसान मजदूर और गरीबों पर चौतरफा हमले कर रही है। उन्होंने सरकार द्वारा किये जा रहे निजीकरण के खिलाफ एकजुट होकर 26 अगस्त को भरथना तहसील पर पहुँचने की अपील की है। सभा की अध्यक्षता लाल सिंह यादव ने और संचालन किसान सभा के मंडल मंत्री आपेन्द्र कुमार ने की।
सभा को अनिल दीक्षित,वीरेन्द्र सिंह यादव, अरविंद कुमार यादव,शिवराम सिंह, दुर्गविजय सिंह शाक्य ने भी सम्बोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here