इटावा: क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान बकेवर के सरकारी आवासों में बाहरी प्राइवेट लोग डेरा डाले हुए हैं।

बकेवर/इटावा: जिला इटावा के कस्वा बकेवर में क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान बकेवर के सरकारी आवासों में बाहरी प्राइवेट लोग डेरा डाले हैं। संस्थान में कार्यरत सरकारी अधिकरियों व कर्मचारियों के नाम पर अलाट आवास में बाहरी लोग पंचायत विभाग सचिव, पशुपालन विभाग, शिक्षक, व पब्लिक के लोग किराये पर रह रहे हैं।
जबकि ग्राम्य विकास संस्थान के उच्च अधिकारियों ने बाहरी लोगों से आवासों को खाली कराने का निर्देश कई महीनों पहले जारी किया था। संस्थान के आचार्य को संस्थान कैम्पस में आवास के किराए पर उठे होने व बाहरी लोगों के रहने की जानकारी नही है। जबकि लोग महीनों ही नही सालों से सरकारी आवासों में रह रहे हैं।

कस्बा में लखना रोड़पर ग्राम्य विकास विभाग का क्षेत्रीय ग्राम्य विकास संस्थान है।जो जिले में मुख्य विकास अधिकारी के अधीन होता है। इस संस्थान में संस्थान में तैनात स्टाफ आचार्य से लेकर चतुर्थश्रेणी तक के रहने के लिए आवास बने हैं।करीब डेढ़ दर्जन आवासों में कुछ क्लास2 तो कुछ क्लास 3 के है, चतुर्थश्रेणी के लिए क्लास 4 आवास भी बने हैं लेकिन मजे की बात तो ये है कि इस सरकारी संस्थान में सरकारी आवासों में बाहरी लोग (जिनका संस्थान से कोई लेना देना नही है) महीनों नही सालों से रह रहे हैं।आवास किसी के नाम आवंटित है और रह कोई और रहा है।बताते हैं। अन्य विभागों के कुछ लोग जो संस्थान में रहा रहे हैं वे रहने के लिए पूर्व सीडीओ व वर्तमान सीडीओ आदेश करा लाये थे। लेकिन विभाग के डायरेक्टर व डिप्टी डायरेक्टर ने पिछले कुछ माह पूर्व ही संस्थान को संस्थान में रह रहे बाहरी लोगों को तकाल बाहर निकालने का आदेश का पत्र भेजा था। लेकिन संस्थान के अधिकरियों ने आज तक बाहरी लोगों को बाहर नही किया। संस्थान के करीब 8 आवासों में क्लास 2 से लेकर चतुर्थश्रेणी आवास में बाहरी लोग रह रहे हैं जिनमें पशु चिकित्सक, महेवा ग्राम पंचायत विकास अधिकारी, ब्लॉक में तैनात संविदा कर्मी, दूसरे जनपद में तैनात ब्लॉक में तैनात कर्मचारी, प्राइवेट लोग किराये पर रह रहे हैं।जिनके नाम आवास अलाट है उन्होंने किराये पर आवास को उठा रखा है। मजे की बात तो ये है कि संस्थान के मुखिया संस्थान के आचार्य को बाहरी लोगों के संस्थान के आवासों में रहने की जानकारी नही है।

इस बाबत जब संस्थान के आचार्य डॉ सुरेश चंद्र से जानकारी की तो पहले तो उन्होंने कहा उन्हें किसी बाहरी के रहने की जानकारी नही है।फिर भी जानकारी करते है जो लोग बाहरी रह रहे है उनको बाहर किया जाएगा।संस्थान में रह रहे कुछ लोग सीडीओ का पत्र इस बाबत लाये थे।जानकारी की जा रही है कार्यवाई की जाएगी।

अंकुर त्रिपाठी IBN NEWS जिला संवाददाता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here