इटावा: यमुना नदी को स्वच्छ बनाने के लिये कार्य शुरू

अंकुर त्रिपाठी IBN NEWS जिला संवाददाता

इटावा: जिला इटावा में नमामि गंगे परियोजना के अंतर्गत अब तक केवल गंगा नदी के संरक्षण की दिशा में कार्य किया जा रहा था, परंतु गंगा की सहायक नदियों को प्रदूषण मुक्त हुए बिना गंगा की शुद्धता पूर्ण रूप से संभव नहीं है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए सरकार ने गंगा की सहायक नदियों को भी प्रदूषण मुक्त बनाने की दिशा में कार्य करना प्रारंभ किया है।
यमुना नदी को स्वच्छ और निर्मल बनाने के सरकारी प्रयास के साथ लोगो को जागरूक करने के लिये “सोसाइटी फ़ॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर” ने शुरू किया प्रयास। सरकार द्वारा नदियों को स्वच्छ बनाने के लिये नमामि गंगे प्रोजेक्ट शुरू किया था इसी के तहत यमुना नदी को भी स्वच्छ बनाने के लिये कार्य शुरू किया गया है।

इसके तहत नगर के गंदे पानी को साफ करने नदी में गिराने के लिये जल शोधन प्रक्रिया अपनाई जा रही है। पर्यावरण के क्षेत्र में लंबे समय से कार्यरत संस्था स्कॉन ने लोगों को जागरूक करने के लिये कदम बढ़ाया है। स्कॉन के संस्थापक पर्यावरणविद राजीव चौहान ने बताया कि बिना जन सहभागिता के नदियों को साफ करना और आगे साफ रखना असंभव है इसी के लिये उन्होंने जनपद के लोगो को जागरूक करने के लिये नमो कालिंदी योजना के तहत ये बीड़ा उठाया है। इसमे नदियों के किनारे बसे प्रत्येक गांव में जाकर वहाँ के लोगो को नदियों में गंदगी न फेकने और ऐसा करने वालो को रोकने के लिये जागरूक किया जाएगा। आगे उन्होंने बताया कि इसके साथ ही नदियों में रहने वाले विभिन्न प्रजाति के जीव जंतुयो को भी बचाने और उनके संरक्षण के लिए लोगो को जागरूक किया जाएगा। जिलाधिकारी जे बी सिंह ने स्कॉन के प्रयासों की सराहना की और कहा कि आज जनपद में पर्यावरण और वन्य जीवों के प्रति जो जागरूकता है वो पर्यावरण विद राजीव चौहान और संजीव चौहान के निःस्वार्थ भाव से किये गए प्रयासों की बजह से है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here