अत्याचार के खिलाफ जनता की आवाज थे पूर्व मंत्री स्वर्गीय जनार्दन प्रसाद

महराजगंज: उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री स्वर्गीय जनार्दन प्रसाद ओझा जीवन भर अन्याय और अत्याचार के खिलाफ जनता की आवाज बुलंद करते रहे। वह सदैव दबे- कुचले लोगों, पीड़ितों, गरीबों एवं मजलूमों की सेवा के लिए तत्पर रहते थे। ओझा ने कभी न हिंसा की राजनीति किया और न ही बदले की भावना से किसी के साथ ब्यवहार किया।
उक्त बातें समाजवादी पार्टी के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष आमिर हुसैन ने कही। वह क्षेत्र के पोखरभिंडा गांव स्थित जेपी ओझा इंटर कॉलेज के प्रांगण में स्वर्गीय ओझा के छठवीं पुण्यतिथि के मौके पर आयोजित श्रद्धांजलि समारोह एवं विचार संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। आगे कहा कि उन्होंने जीवन में कभी भी अन्याय और जुल्मों को बर्दाश्त नहीं किया।
सपा नेत्री एवं स्वर्गीय ओझा की पुत्र वधू सुमन ओझा ने कहा कि स्व. जनार्दन प्रसाद ओझा संघर्ष के पर्याय थे। अन्याय और अत्याचार के मुद्दे को लेकर हर वक्त वह सड़क पर उतर जाते थे। पीड़ितों व गरीबों को न्याय दिलाना और आम आवाम की आवाज को बुलंद करना उनके जीवन का एकमात्र मकसद था। हम सभी को उनकी जीवन से प्रेरणा लेकर जनता की आवाज बनकर उनकी सेवा करनी चाहिए यही उनकी उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। समाजवादी चिंतक वशिष्ठ नारायण पांडेय ने कहा ओझा का पूरा जीवन संघर्षों से भरा था। वह आम जनता के लिए हर समय उपलब्ध रहते थे परिवार एवं पार्टी के लोग उनके पदचिन्हों पर चलें। यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
पूर्व विधायक सुदामा प्रसाद ने कहा कि स्व. ओझा के संघर्षों की लंबी फेहरिस्त है। वह छोटे- बड़े हर जनांदोलनों के हिस्सा होते थे।
पूर्व जिला अध्यक्ष राजेश यादव ने कहा कि स्वर्गीय ओझा जाति, धर्म और मजहब से ऊपर उठकर सदैव जनता की सेवा में रहे। कार्यक्रम का संचालन कर रहे सपा नेता श्याम सुंदर वर्मा ने कहा कि समाजवाद के मुकम्मल किताब रहे स्वर्गीय जनार्दन प्रसाद ओझा की कमी की भरपाई करना बहुत मुश्किल है। कार्यक्रम को सपा नेता दीनबंधु उर्फ दीपू यादव, दिलीप शुक्ल, ध्यानेश्वर मणि, विजय बहादुर चौधरी, शैल जायसवाल, दशरथ विश्वकर्मा, वरिष्ठ सपा नेत्री सुमन ओझा, विशाल कुमार ओझा, धनेश्वर मणि, श्यामसुंदर वर्मा, समाजवादी नेता दशरथ विश्वकर्मा, शैल जायसवाल, जयप्रकाश यादव, देवता पांडेय, दिलीप शुक्ला, ब्रिन्देश कनौजिया, अशोक यादव, अरुण कुमार सिंह आदि ने संबोधित किया। इस अवसर पर वशिष्ठ नारायण पांडेय, शंकर मिश्र, रमेश पांडेय, राजेश ओझा, शांतनु ओझा, इंद्र बहादुर, मनीष दुबे, कन्हैया मोदनवाल, मनोज जायसवाल, सुरेंद्र यादव, हुसेन्द्र यादव, हेशामुद्दीन, बलराम उपाध्याय, कमरुद्दीन, छोटकन, खुर्शीद, टुन्नू, नागेश कुमार मिश्र एवम सुरेश यादव आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here