नहीं रहे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, कई दिन से थे वेंटिलेटर पर

एडवोकेट परमेश त्रिपाठी IBN

कोरोना संक्रमित पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन हो गया। दिल्ली के आर्मी अस्पताल में वह भर्ती थे। जहां उनकी ब्रेन सर्जरी हुई थी। सर्जरी के बाद से ही वह वेंटिलेटर पर थे। स्थिति काफी गंभीर बनी हुई थी।

उन्हें 10 अगस्त को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। प्रणब मुखर्जी ने ट्वीट कर कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी। ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा था कि उनके संपर्क में जो भी लोग आए हैं वह अपना कोरोना टेस्ट जरूर करा लें।बता दें कि इस वक्त प्रणब मुखर्जी की उम्र 84 साल थी। ऐसे में कोरोना पाॅजिटिव होने पर उन्हें सीधे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कांग्रेस नेता रहे प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 के बीच देश के राष्ट्रपति रहे। साल 2019 में केंद्र सरकार ने प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से सम्मानित किया था।

प्रणब मुखर्जी के बीमार होने की खबर के बाद से ही हर कोई उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना कर रहा था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी समेत देश के कई बड़े नेताओं ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की थी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अस्पताल पहुंच डॉक्टरों से प्रणब मुखर्जी का हाल जाना था।सोमवार को आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल की ओर से प्रणब मुखर्जी की तबीयत के बारे में मेडिकल बुलेटिन जारी की गई थी। अस्पताल की तरफ से बताया गया था कि प्रणब मुखर्जी की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है। अभी वह वेंटिलेटर पर हैं और उनका ब्लड प्रेशर-खून की गति भी स्थिर बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here