गाजीपुर सिटी: मनमाना भाडा वसूली और अवैध पार्किग रोजमर्रा का कारोबार

राकेश पाण्डेय IBN NEWS की रिपोर्ट

आरपीएफ व जीआरपी से परमिट लेकर स्टेशन पर उत्पात मचा रहे दवंग चालक

गाजीपुर: अवैध तरीके से सैकड़ों तिपहिया वाहनो का सिटी स्टेशन परिसर मे होने वाले जमावडे से एक तरफ यात्रियों व यहां आने जाने वालो को रूबरू होने की मजबूरी वन गयी है.


तमाशा देखते है विकास पुरुष के जिले मे तैनात जिम्मेदार जवान

इस समस्या को लेकर जिम्मेदार आरपीएफ व जीआरपी थाने पर तैनात सिपाही भी सब कुछ नजरंदाज करते है. अवैध तरीके से स्टेशन परिसर ब्रह्म स्थान के साथ ही मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षिका के कार्यालय के बाहर आटो लगाकर दबंग चालक व इलाकाई दागी युवक शराब और गांजे की दावतें करते है. आपस मे गाली गलौज या किसी यात्री से बदसलूकी आम बात है.

सैकड़ो चालकों से रोज होती है 20 रूपये की वसूली

सबसे चौकाने वाली बात यह कि अवैध रूप से बिना किसी परमिट, डीएल के स्टेशन परिसर मे रोज उत्पात मचाने वाले चालको या वाहनो का कोई चालान आरपीएफ व जीआरपी की ओर से नही होती. जबकि चर्चा यह हंसरापुर इलाके का एक आटो चालक स्टेशन परिसर मे दाखिल होने वाले हर आटो, विक्रम व टोटो से 20 रूपया लेकर स्टेशन परिसर मे दाखिल कराता है साथ ही अंदर पार्किंग व आरपीएफ व जीआरपी से सुरक्षा दिलाने का काम भी करता है.

खुलेआम शराब की दावत और यात्रियों से होती है दबंगई

स्टेशन परिसर मे वाहन खडे कर खुलेआम नशे का सेवन करने वाले चालक यात्रियों से 10 /20 किलोमीटर की यात्रा के बदले 1 हजार से 3 हजार तक की वसूली करने मे भय नही खाते. मजबूरी मे यात्री सपरिवार तीन गुना अधिक भाडा देकर ऐसे वाहनो से घर जाने को मजबूर है. लेकिन इस बात का संज्ञान रेल विभाग को नही है.

कोतवाली के साथ आरपीएफ जीआरपी तीनो थाने फेल

दूसरी तरफ रेलवे स्टेशन का आधा हिस्सा कोतवाली थाने मे आता है जिसका फायदा सिर्फ बिना परमिट के चलने वाले तिपहिया वाहन चालक उठा रहे है. जिससे रेल, जीआरपी, आरपीएफ, व यूपी पुलिस का लाखो का राजस्व नशाखोर चालक व दवंग युवक हर माह लूट रहे है. दिन भर स्टेशन परिसर मे घूमकर ड्यूटी करने वाले जिम्मेदार कोरम पूरा कर निकल जाते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here