Breaking News

गाजीपुर:चिकित्सा माफियाओं की चरागाह बना जिले का यह तहसील मुख्यालय

 

रिपोर्ट राकेश पाण्डेय IBN NEWS ग़ाज़ीपुर

गाजीपुर: जिले की सैदपुर तहसील का मुख्य बाजार चिकित्सा माफियाओं के लिए चरागाह बन गया है यहां पिछले 2 सालो मे अवैध अस्पतालों डाइग्नोशिस सेंटर चलाने का पसंदीदा इलाका बन गया है. कोविड की महामारी की आड़ मे निष्क्रिय हो चुकी जांच टीम की अनदेखी का लाभ उठाकर अवैध तरीके से विना रजिस्टेशन चलने वाले अस्पतालों की संख्या डेढ दर्जन पार कर चुकी है.

आंखे मूद कोरोना जाने का इंतजार कर रहे सीएमओ

जिले मे कुल सात तहसील मुख्यालय मौजूद है लेकिन सैदपुर बाजार एक तरफ नेशनल हाईवे पर है दूसरी तरफ वाराणसी जनपद की सीमा पर होने के कारण चिकित्सा माफिया यहा आसानी से पांव पसार लेते है. और इनकी जांच करने के लिए जिम्मेदार मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीसी मौर्य “मूदहू आंख दिखत कुछ नाही” वाली देशी कहावत चरितार्थ करने मे जी जान से लगे हुए है.

सरकारी सील तोड औडिहार मे संचालक ने खोला अस्पताल

हालत इतने खराब है कि कोबिड काल के पूर्व अनियमितता मे सीज किया गया औडिहार नहर के किनारे चल रहे अस्पताल का सील व ताला तोड़ इलाहाबाद निवासी संचालक ने फिर अस्पताल शुरू ही नही कर दिया अस्पताल की सील विल्डिंग मे नवीन निर्माण भी शुरू कर दिया है.

बिना माक्स के ही मरीज देखते है चिकित्सक व संचालक

इसी तरह घाट रोड पर चल रहे एलेक्स अस्पताल का रजिस्टेशन तो दूर चिकित्सक भी नही है आपरेशन व सर्जरी के लिए वाराणसी से आने वाले ऐसे कथित चिकित्सक के भरोसे जिसकी डिग्री भी संदेह के घेरे मे है. रोज धलड्डे से कानून व जिले की चिकित्सा व्यवस्था को ठेगा दिखा रहा है. दबंगई का आलम यह है कि अस्पताल संचालक व कथित चिकित्सक खुद माक्स लगाना तो दूर लोगो को कोरोना को अफवाह व भाजपाई साजिश बताते है.

कोतवाली के ठीक बगल मे जारी है अनैतिक कारोबार

चिकित्सा व्यवस्था से जुड़े दवंगो ने सैदपुर कोतवाली के ठीक वगल मे भी अपनी दुकान खोल रक्खी है जहा रोज अस्पताल संचालक समाजवादी नेता प्रदीप का चिकित्सा की आड़ मे परेशान गरीबो का शोषण कर रहे है लेकिन पुलिस भी इस अस्पताल को नजरअंदाज कर रही है. इस अस्पताल का भी कोई पंजीकरण नही है.

लबे रोड बेखौफ कारोबार कर रहे चिकित्सा माफिया

सैदपुर कस्बे मे राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे 2 माह से शुरू हुआ शिवांगी अस्पताल को भी अपना कारोबार चलाने की जबानी स्वीकृति स्वास्थ्य विभाग के आला अफसरों ने दे दी है. कुल मिलाकर सैदपुर कस्बे मे तेजी से फल फूल रहा चिकित्सा की आड़ मे लोगों की गाढी कमाई लूटने के इस कारोबार की अनुमति मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने दी है. अगर नही तो आखिर इनकी जांच और मनमानी पर अंकुश क्यो नही लग रहा आम लोगों की समझ मे आने लगा है.

सीएमओ की अनदेखी से स्थानीय व्यवस्था तार तार

जानकारों की माने तो सैदपुर कस्बे मे चलाने वाले अस्पताल मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय जाकर साहब का सलाम जरूर ठोकते है इसके बदले ही एवार्सन से लगायत आपरेशन तक के खेल मे अपना परचम लहरा रहे है. आम गरीब मजबूर है और सैदपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के जिम्मेदार मूक दर्शक बन गये है.

About IBN NEWS

It's a online news web channel running as IBN24X7NEWS.

Check Also

रामनगरी के तपस्वी छावनी महान्त ने राष्ट्रपति को 07 सूत्रीय मांगपत्र भेजकर मांगी इच्छा मृत्यु की अनुमति

ब्यूरो रिपोर्ट सत्यम सिंह IBN NEWS अयोध्या अयोध्या रामनगरी के महंत परमहंस दास ने अपने …

एसआइटी गठन के बावजूद पीली ईंटों का इस्तेमाल

ब्यूरो रिपोर्ट सत्यम सिंह IBN NEWS अयोध्या अयोध्या ब्लॉक सोहावल में निर्माणाधीन आइटीआइ हाजीपुर बरसेंडी …

कपड़ा व्यापारियों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ाई जा रही धज्जियां

ब्यूरो रिपोर्ट सत्यम सिंह IBN NEWS अयोध्या व्यापारियों के द्वारा जिलाधिकारी के निर्देशों की धज्जियां …

पत्रकार राकेश सिंह के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाएं- सेराज अहमद कुरैशी

पत्रकार राकेश सिंह और उनके साथी पिन्टू साहू की निर्मम हत्या के विरोध में इंडियन …

विहिम प्रभारी की कार का शीशा तोड़ने पर आरोपी भेजा जेल

  रिपोर्ट सौरभ पाठक IBN NEWS बरेली फतेहगंज पश्चिमी- विश्व हिंदू महासंघ के प्रभारी की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *