बेटमा पुलिस द्वारा 48 घण्टे में, महिला के कत्ल को छुपाकर अंतिम क्रिया कर्म करने के प्रकरण का किया खुलासा

▪️ आरोपी पति ने ही दिया था पत्नी की हत्या को अंजाम

▪️ आरोपी ने हार्ट अटैक से मौत होना बता कर, अपने परिजनों के साथ पत्नी का कर दिया था अंतिम क्रिया कर्म

इंदौर- दिनांक 06 अगस्त 2020- पुलिस महानिरीक्षक इन्दौर जोन इंदौर श्री विवेक शर्मा व उप पुलिस महानिरीक्षक शहर इन्दौर श्री हरिनारायण चारी मिश्र गंभीर प्रकरणों हत्या, लूट,डकैती जैसे से प्रकरणों में गंभीरता से कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं। उक्त निर्देशों के अनुक्रम में पुलिस अधीक्षक पक्षिम इन्दौर श्री महेश चंद जैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महू श्री अमित तोलानी एवं एस.डी.ओ.पी. देपालपुर श्री संजय चतुर्वेदी के मार्गदर्शन में बेटमा पुलिस द्वारा ग्राम माचल में हुये महिला के कत्ल का पर्दाफाश करने में सफलता प्राप्त की हैं।

पुलिस थाना बेटमा को दिनांक 04/08/2020 को जरिये मुखबिर द्वारा सूचना मिली की ग्राम माचल में संजूकुंवर राजपूत निवासी ग्राम माचल ने फांसी लगाकर रात में आत्महत्या कर ली है जिसे उसके पति भारतेन्द्र उर्फ दिलीप सिंह द्वारा अपने 4-5 रिश्तेदारों के साथ मिलकर 05.00 बजे सुबह शमसान घाट में ले जाकर जला दिया है । सूचना से तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराकर सूचना की तस्दीक में एक टीम को तत्काल रवाना किया गया । टीम द्वारा मौके पर पहुचकर लोगो से पूछताछ की गई व शमसान घाट जाकर देखा तो एक चिता पूरी जली हुई अवस्था में मिली । गांव के चौकीदार से पूछताछ करते उसने बताया कि यह चिता दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु की पत्नी संजूकुंवर ग्राम माचल की है । जिस पर संदेह होने से थाना पर मर्ग कायम कर जांच में लिया गया ।

मर्ग जांच में पुलिस टीम द्वारा बारीकी व अपनी सूझबूझ से मृतिका संजूकुंवर के पति दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु से पूछताछ की तो पहले वह मृतिका की मृत्यु फांसी लगाने, हार्ट अटैक आने व अन्य तरह की बातें गोलमोल करने लगा। मामला संदेहप्रस्थ लगने से पुलिस टीम द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में मृतिका के पति दिलीप सिंह से सख्ती से पूछताछ की तो दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु ने बताया कि उसकी पत्नी फरवरी माह में अमर खारौल के साथ भाग गई थी जो बाद में घर आ गई लेकिन मेरे साथ रहने से मना कर रही थी, जिस कारण मेरी समाज में काफी बेईज्जती हो रही थी । दिनांक 03/08/2020 को संजुकुंवर अपने पति दिलीप सिंह उर्फ भारतेन्दु से बीमार होने के बहाना बनाकर बेटमा इलाज के लिये गई जहां से मृतिका संजुकुंवर ने भागने का प्रयास किया, जिसके बारें में पति दिलीप सिंह को पता लगने पर वह उसे जबरदस्ती अपने घर वापस ले गया । उसके बाद आरोपी दिलीप सिंह द्वारा अपनी पत्नी के बाल काटकर उसे अपने घर के अन्दर बंद कर दिया तथा आरोपी ने सोचा कि उसकी पत्नी संजूकुंवर के नाम से 02 बीघा जमीन है वह चली जायेगी तथा पत्नी भी चली जायेगी और मेरी समाज में कोई इज्जत नही रह जायेगी। इन सब बातों के कारण रात में ही आरोपी ने अपनी पत्नी को मारने का प्लान बनाया, जिसके चलते उसी रात आरोपी द्वारा अपनी पत्नी संजूकुंवर को खाने में नींद की गोली दी व उसके सो जाने पर रात में करीबन 12.00 बजे से 01.00 बजे के बीच में उसकी गला दबाकर हत्या कर दी व आरोपी ने सोचा कि कहीं उसकी पत्नी जिंदा न हो जाये इसके लिये आरोपी ने मृतिका का रस्सी से गला घोंटकर हत्या की पुष्टी की तथा आरोपी स्वयं रात भर जागा ।

आरोपी ने सुबह अपने परिवार के लोगो को बताया कि उसकी पत्नी संजुकुंवर की रात में हार्ट अटैक आने से मृत्यु हो गई बाद में अपने परिवारजनों व गांव वालो के साथ जाकर मृतिका संजूकुंवर को शमसान घाट में ले जाकर अंतिम संस्कार कर दिया । प्रकरण में वैज्ञानिक साक्ष्य तथा अन्य भौतिक साक्ष्य गहनता से संकलित किये जा रहे है । बेटमा पुलिस द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सतर्कता व सक्रियता से कार्यवाही करते हुए उक्त अंधेकत्ल का पर्दाफाश किया गया ।

उक्त सराहनीय कार्य में थाना प्रभारी बेटमा निरी . संजय शर्मा , उनि बिहारी सांवले , उनि रोशनी जैन , सउनि वीरेन्द्र सिंह गौर सउनि जीतू मिश्रा , प्रआर , 2418 मुकेश नागर , प्रआर . 2866 अरविन्द सिंह आर .2190 योगेश रघुवंशी आर . 3160 पंकज ओझा आर . 3000 ज्ञानेन्द्र सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here