Breaking News

रोके गए सीएमपीएफ राशि का भुगतान किए जाने बाबत आयुक्त सीएमपीएफ धनबाद को लिखा पत्र

 

ब्यूरो रिपोर्ट तीरथ पनिका IBN NEWS अनूपपुर मध्यप्रदेश

अनूपपुर – हसदेव क्षेत्र के विभिन्न कोयला खदानों सहित कार्यालयों में सुरक्षा के कार्य में संलग्न सुरक्षा विभिन्न सुरक्षा कंपनियों के.के. क्रिसानीया सिक्योरिटी, एके भारद्वाज सिक्योरिटी, ऑटोराइडर सिक्योरिटी ,अपर सिक्योरिटी, धनंजय सिक्योरिटी , भैरव सिक्युरिटी एवं अन्य कंपनियों में वर्षों से काम करने वाले सुरक्षा प्रहरियों/कर्मचारियों का कोयला खदान भविष्य निधि की राशि का भुगतान आज दिनांक तक नहीं किया गया है,

वर्ष 2015 से वर्ष 2019-20 तक लगभग ये कर्मचारी इन कंपनियों में कार्यरत्त थे,बकाया राशि का भुगतान किए जाने के संबंध में कोयलांचल क्षेत्र के संधान ट्रस्ट के चीफ ट्रस्टी एवं सांसद प्रतिनिधि एसईसीएल मुख्यालय सुनील कुमार चौरसिया ने आयुक्त कोयला खान भविष्य निधि संगठन धनबाद (झारखंड)
को पत्र लिखकर मांग की है कि कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए नियमों के विरुद्ध रोके गए सेटलमेंट/ भुगतान,एसईसीएल उपक्रम के हसदेव क्षेत्र के प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों के पात्र सदस्यों/सुरक्षा कर्मियों को सीएम पीएफ क्लेम का सेटलमेंट तत्काल किये जाने की मांग की है।

ज्ञात हो कि एसईसीएल उपक्रम के हसदेव क्षेत्र में प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों में कार्यरत लगभग 35 सुरक्षाकर्मी जो सीएमपीएफ क्लेम के पात्र हैं,प्रत्येक कर्मचारियों को डेढ़ से दो लाख का भुगतान प्राप्त होना है, परंतु इनका क्लेम सेटलमेंट आज दिनांक तक नहीं किया गया है,जो लाखों की राशि है।


इस संबंध में प्रधान नियोक्ता एसईसीएल हसदेव क्षेत्र प्रबंधन के द्वारा 4 विभिन्न पत्रों के माध्यम से पत्राचार भी क्षेत्रीय आयुक्त ,कोयला खदान भविष्य निधि कार्यालय, शक्ति नगर गुप्तेश्वर ,जबलपुर (म.प्र.) को संबोधित करते हुए किया गया है।
परंतु दिसंबर 2019, जुलाई 2020, नवंबर 2020 (लगभग 17 माह बीत जाने के उपरांत भी) किए गये पत्राचारों पर भी आज दिनांक तक क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर के द्वारा क्लेम सेटलमेंट/भुगतान नहीं किया गया है,

 

इतना ही नहीं 27 दिसंबर 2019 को प्रधान नियोक्ता के द्वारा 23 कर्मचारियों के सीएमपीएफ क्लेम सेटेलमेंट किए जाने बाबत पत्राचार किया गया था परंतु प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रेषित पत्र के क्रमांक 1 से 12 तक के कर्मचारियों का क्लेम सेटलमेंट कर दिया गया है एवं इसी पत्र के क्रमांक 13 से 23 तक के कर्मचारियों का सेटलमेंट आज दिनांक तक नहीं किया गया है ,आखिर यह दोहरा मापदंड क्यों? जो कि किसी भी दृष्टि से न्याय संगत नहीं है।

श्री चौरसिया ने आरोप लगाते हुए कहा कि सीएमपीएफ क्लेम सेटलमेंट के नाम पर बड़े पैमाने पर क्षेत्रीय आयुक्त कार्यालय जबलपुर में भ्रष्टाचार व्याप्त है,जो संगठन की छवि को धूमिल करता है,आज कोरोना वैश्विक महामारी के रूप में पूरे विश्व में फैला हुआ है इसी क्रम में जिन श्रमिकों का भुगतान रोका गया है ये कर्मचारी भी कोरोना काल से जूझ और संघर्ष कर रहे हैं, ऐसी स्थिति में इनको मिलने वाला भुगतान रोका जाना किसी भी दृष्टि से न्याय संगत नहीं है।

आयुक्त धनबाद को पत्र लिखकर श्री चौरसिया ने श्रमिक/मजदूर हित मे अपेक्षा और आग्रह किया है कि इन सुरक्षाकर्मियों की आर्थिक स्थितियों और परिस्थितियों को देखते हुए, कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए इन्हें सीएमपीएफ क्लेम की मिलने वाली राशि का सेटलमेंट /भुगतान तत्काल कराने की मांग की है।

About IBN NEWS

It's a online news channel.

Check Also

कोविड केयर सेंटर पीएस होटल एवं रमसा बालिका छात्रावास का किया निरीक्षण

  रिपोर्ट विजय कुमार भोला IBN NEWS शिवपुरी, ग्वालियर (मध्यप्रदेश ) अभी कोविड के मरीजों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *