Breaking News
Home / मध्य प्रदेश / इंदौर / इंदौर से अहमदाबाद के बीच एसी कोच से लाखों रुपए की चोरी, फोरम ने माना सेवा में कमी, चुकाने होंगे लाखों

इंदौर से अहमदाबाद के बीच एसी कोच से लाखों रुपए की चोरी, फोरम ने माना सेवा में कमी, चुकाने होंगे लाखों

 

 

इंदौर। इंदौर से अहमदाबाद के बीच ट्रेन के एसी कोच से लाखों रुपए की चोरी को जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोषण फोरम ने रेलवे द्वारा यात्री के प्रति सेवा में कमी माना है।

इसी के साथ फोरम ने संबंधित यात्री को 8.45 लाख रुपए के साथ ही मानसिक व शारीरिक कष्ट के लिए दस हजार व परिवाद खर्च एक हजार रुपए दो माह में अदा करने के आदेश दिए ।

मामला इस प्रकार है कि गुलमोहर कालोनी निवासी 64 वर्षीय बुजुर्ग कन्हैया साधवानी पिता मोहन व उनकी पली लता 8 फरवरी 2016 को एक वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने अहमदाबाद जा रहे थे ।

इसके लिए इंदौर से उन्होंने शांति एक्सप्रेस में एसी में टिकट बुक कराया । उनका ए – 1 कोच में सीट नंबर 38 और 40 था ।

रात को यह ट्रेन इंदौर से रवाना हई । इनके पास अन्य सामान के साथ एक बैग था , जिसमें जेवर व नकदी के साथ करीब 8.45 लाख रुपए का माल था । दूसरे दिन 9 फरवरी 2016 को करीब पौने सात बजे वे बाथरुम गए और वापस लौटे तो उनका बैग गायब मिला ।

उनके द्वारा जब मामले की शिकायत टीटी एलएस राणा को दी गई तो उनके द्वारा जानकारी दी गई कि इसी एसी कोच के बर्थ नंबर 41 व 42 पर दो यात्री बैठे थे , जो गोधरा रेलवे स्टेशन पर उतर गए। संभवतः इनके द्वारा उनका बैग चोरी किया गया । पता चला कि ये दोनों यात्री अनाधिकृत रूप से इस कोच में बिना टिकट यात्रा कर रहे थे ।

इस पर जीआरपी थाने पर रिपोर्ट लिखाने के साथ ही उक्त दंपत्ति द्वारा एडवोकेट मनीष वर्मा के माध्यम से जिला उपभोक्ता फोरम में परिवाद दायर किया गया ।

इसमें आरोप लगाया गया कि रेलवे द्वारा सेवा में की गई कमी के कारण यह घटना हुई, अतः उन्हें चोरी गए माल की राशि दिलवाई जाए।

फोरम अध्यक्ष सत्येन्द्र जोशी व सदस्य कुंदन सिंह चौहान ने मामले की सुनवाई कर सभी पक्षों के तर्क सुनने के पश्चात माना कि रेलवे द्वारा यात्री के प्रति सेवा में कमी की गई है ।


इसके चलते वाद स्वीकार कर तीनों पक्षकारों को संयुक्त रूप से अथवा पृथक – पृथक 8.45 लाख रुपए दो माह में अदा करने के आदेश दिए।

आदेश दिनांक से रकम अदायगी तक आठ प्रतिशत ब्याज भी देना होगा, साथ ही इन्हें हुए मानसिक व शारीरिक कष्ट के लिए दस हजार व परिवाद वर्च एक हजार रुपए अदा करने के आदेश दिए।

परिवाद में जनरल मैनेजर वेस्टर्न रेलवे इंदौर , डिवीजनल मैनेजर, वेस्टर्न रेलवे इंदौर और डिवीजनल मैनेजर वेस्टर्न रेलवे अहमदाबाद गुजरात का पक्षकार बनाया गया ।

 

रिपोर्ट कंवलजीत सिंह ibn24x7news इंदौर

About IBN24X7NEWS

It's a online news web channel running as IBN24X7NEWS.

Check Also

जब विदेश में भी गूंज उठा भारत माता की जय

  शहडोल(राष्ट्रबाण)। नगर के प्रतिभाशाली और शहडोल के गौरव अक्षत गुप्ता ने कंबोडिया की राजधानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here