शहडोल– ग्राम सभाओं में लोगों का विश्वास बढ़ना चाहिए- मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल

रोहित तिवारी
IBN24×7 News
शहडोल
ग्राम सभाओं में लोगों का विश्वास बढ़ना चाहिए- मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल
धारा 40 के प्रकरणों में तेजी से कार्यवाही सुनिश्चित कराएं- मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल
शहडोल 21 जनवरी 2020ः- मध्यप्रदेश शासन के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि ग्राम सभाओं में लोगों का विश्वास बढ़ना चाहिए। उन्होने कहा कि ग्राम सभा होने से पूर्व ग्राम सभाओं का व्यापक प्रसार-प्रचार होना चाहिए तथा ग्राम सभा मे गांव के लोगों की समुचित भागीदारी होनी चाहिए तथा ग्राम सभा में लिये गए निर्णयों में पारदार्शिता और सुचिता होना चाहिए। उन्होने कहा कि ग्राम सभाओं में लिए गए निर्णयों पर गांव के लोगों का विश्वास बढ़े इसके लिए समुचित प्रयास किये जाए। प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने आज कमिश्नर कार्यालय शहडोल के सभागार में आयोजित पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की संभाग स्तरीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों केा निर्देशित कर रहे थें। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने अधिकारियेां को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम सभाओं में पारदार्शिता और सुचिता बनी रहे इसके लिए जिला प्रशासन के अधिकारी उत्कृष्ट ग्राम सभा आयोजनों के लिए ग्रामीणों को पे्ररित करें। बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने शहडोल संभाग मंे धारा 40 के लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कहा कि धारा 40 के प्रकरणों में तेजी से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए । उन्होने कहा कि धारा 40 के प्रकरणों में सरपंच और सचिव के साथ ही निर्माण कार्याें का मूल्यांकन करने वाले उपयंत्रीयों, सहायक यंत्रीयों पर भी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित निर्माण कार्याें की निरंतर माॅनिटरिंग करें। निर्माण कार्याें की उपयोगिता सुनिश्चित कराए तथा उच्च गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्य करना सुनिश्चित कराएं। उन्होने कहा कि निर्माण कार्याें की गुणवत्ता में सहायक यंत्रीयों एवं उपयंत्रीयों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। निर्माण कार्याें में सहायक यंत्रीयों एवं उपयंत्रीयों की भी जवाबदेही तय की जाए। बैठक में मध्यान्ह भोजन वितरण कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि मध्यान्ह भोजन वितरण कार्यक्रम को और अधिक माकूल और पारदर्शी बनाए जाए । स्कूलों में बच्चों को मीनू के अनुसार मध्यान्ह भोजन का वितरण सुनिश्चित किया जाए। उन्होने कहा कि मध्यान्ह भोजन वितरण कार्यक्रम को आजीविका मिशन के स्वसहायता समूह से भी जोड़ने के प्रयास किये जाए। बैठक में मध्यान्ह भोजन के लिए किचन शेड निर्माण की समीक्षा करते हुए पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि शहडेाल संभाग में स्कूलों में किचन शेड़ निर्माण की स्थिति ठीक नही है, इसमे तत्काल सुधार किया जाए। बैठक में शहडोल संभाग मंे स्वच्छता मिशन के अन्तर्गत अपेक्षित प्रगति कार्य नही होने पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की तथा कहा कि शहडोल संभाग के सभी जिलों में स्वच्छता मिशन के अन्तर्गत बेहतर कार्य करने की आवश्यकता है। स्वच्छता मिशन के कार्यो को प्राथमिकता के साथ कराया जाए। बैठक में स्वच्छता संवाद कार्यक्रम में भी अपेक्षित प्रगति नही हेाने पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कड़ी नाराजगी व्यक्त की। बैठक मेें पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने पंचायत दर्पण की भी समीक्षा की।
बैठक में अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग श्री मनोज श्रीवास्तव, मुख्य कार्यपालन अधिकारी ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण श्री उमाकांत उमराव, कमिश्नर शहडोल संभाग श्री आर.बी. प्रजापति, सीईओ एन.आर.एल.एम. श्रीमती शिल्पा गुप्ता, कलेक्टर शहडोल श्री ललित दाहिमा, कलेक्टर उमरिया श्री स्वरोचिष सोमवंशी सहित शहडोल संभाग पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सभी अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here