मंदिर निर्माण से पहले परिसर में गिराए जाएंगे जर्जर अधिग्रहित मंदिरों के भवन राम मंदिर निर्माण के लिए सीता रसोई, साक्षी गोपाल व मानस भवन के कुछ हिस्सों को गिराए जाने के साथ परिसर का होगा विस्तार

अयोध्या रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए भूमि के विस्तारीकरण का काम शुरू कर दिया है। मंदिर निर्माण स्थल से सटे जर्जर मंदिरों के भवनों को हटाए जाने का कार्य के लिए भी एलएंडटी को ही जिम्मेदारी दी गई है जिसमें सबसे पहले राम जन्म स्थान व सीता रसोई के जर्जर हो चुके भवन को ध्वस्त करने का निर्णय लिया गया है।राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए अधिग्रहित परिसर में 67 एकड़ भूमि के साथ 13 अन्य मंदिरों को भी अधिकृत किया गया था लंबे अरसे से अधिग्रहित होने के कारण सभी भवन जर्जर हालात में है। वही मंदिर निर्माण के लिए आसपास की भूमि को खाली कराए जाने की आवश्यकता थी जिसके कारण अब जर्जर हालात के इन सभी मंदिरों को गिराए जाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी जिसके लिए एलएंडटी को जिम्मेदारी दी गई है।राम जन्म भूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के मुताबिक मंदिर निर्माण के लिए आप गलत परिसर में स्थित कई मंदिरोंं को गिरायाा जाएगा जिसके लिए पहले चरण में राम जन्म स्थान सीता रसोई साक्षी गोपाल व मानव भवन का भाग गिराया जाएगा और बाद मेंं अन्य मंदिरों के जर्जर भवनों भी गिराए जाने के साथ परिसर का विस्तार होगा।

IBN NEWS अयोध्या ब्यूरो चीफ सत्यम सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here