जिलाधिकारी ने गंगा नदी से हो रहे कटान का लिया जायजा

15 सितम्बर तक बढ़ सकता है जलस्तर, बाढ़ विभाग रहे सतर्क

बलिया: जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने सोमवार को गंगापुर में गंगा नदी से हो रहे कटान का जायजा लिया। उन्होंने बाढ़ खण्ड के अधिकारियों से जरूरी जानकारी ली। बताया कि बाढ़ का पानी 15 सितम्बर तक बढ़ने की संभावना है, लिहाजा अब और सतर्क रहने की जरूरत है। इस दौरान एनडीआरएफ के जवान अनिल कुमार शर्मा से भी बचाव कार्य से जुड़ी जरूरी जानकारी ली।

जिलाधिकारी ने दुबेछपरा में जाकर बाढ़ की स्थिति को देखा। गंगा नदी में लगे परकूपाइन विधि से हुए कार्य का जायजा लिया। बाढ़ खण्ड के अधिकारी ने इसके बारे में विस्तार से बताया। भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी दुबेछपरा के पास एनएच-31 पर बसे बाढ़ पीड़ितों से भी बातचीत की। परशुराम मलाह के घर में जाकर घर की स्तिथि और अन्य जानकारी ली। एसडीएम बैरिया सुरेश पाल ने बताया कि एनएच-31 सड़क के किनारे 251 लोग बसे हैं। दुबेछपरा में एक कुंवे को देखने के बाद उसका सुंदरीकरण कराने का निर्देश दिया।
—-

जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय पोषण माह का किया शुभारंभ

7 से 30 सितंबर तक चलेगा राष्ट्रीय पोषण माह

पोषण रैली निकली, हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

बलिया: 7 से 30 सितम्बर तक चलने वाले राष्ट्रीय पोषण माह का शुभारंभ जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने सोमवार को किया। विकास भवन के बाहर आयोजित कार्यक्रम में फीता काटकर तथा दीप प्रज्वलित कर इसका शुभारंभ किया। इस अवसर पर पोषाहार से बने विभिन्न प्रकार के व्यंजन का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत होने वाली गतिविधियों को पूरी गंभीरता के साथ संचालित कराएं।

इस अवसर पर सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखते हुए पोषण रैली निकाली गई, जिसको जिलाधिकारी ने हरी झण्डी दिखाकार रवाना किया। प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी पीयूष चंद्र ने बताया कि इसके अंतर्गत अति कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन व अनुश्रवण तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों, विद्यालयों, शासकीय परिसरों एवं समुदाय में वृक्षारोपण का अभियान चलाकर किचन गार्डन बनाने को प्रोत्साहित करने पर विशेष जोर होगा। किचन गार्डन में पौष्टिकता से भरपूर फल एवं सब्जियां लगाई जाएंगी।

पोषण के लिए पौधे’ अभियान

डीएम श्री शाही ने जोर देकर कहा कि ‘पोषण के लिए पौधे’ अभियान के तहत किचन गार्डन को विकसित करने के लिए क्षेत्रीय स्तर पर प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। बताया कि आयरन युक्त आहार के सेवन से एनीमिया के स्तर में कमी आती है। हरी साग सब्जियों, खट्टे फलों, अदरक, हल्दी आदि के सेवन से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। इसलिए हमें ऐसे पौधे रोपने को प्रोत्साहित करना है। यह माह सबसे सही समय है।

कोरोना के चलते डिजिटल तरीके से मनाया जाएगा पोषण माह

 

कोविड-19 के कारण पोषण माह डिजिटल तरीके से मनाया जायेगा। शिक्षा विभाग के माध्यम से पोषण विषय पर ऑनलाइन प्रतियोगिता आयोजित कर जन्म के प्रथम 1000 दिन का महत्व, पोषण युक्त खाना, एनीमिया डायरिया एवं सफाई के विषय पर बल दिया जाएगा। इसके साथ ही पोषण माह के दौरान डिजिटल पोषण पंचायत आयोजित कर स्थानीय स्तर पर पोषण सम्बन्धी समस्याओं की पहचान कर उनका प्रबंधन एवं समाधान किया जाएगा। इस अवसर पर सीडीपीओ अमरनाथ चौरसिया, मिनाक्षी आर्या, पूनम सिंह व शहर परियोजना की आंगनवाड़ी कार्यकत्रियां थीं।

रिपोर्ट वरुण चौबे IBN News ब्यूरो बलिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

WhatsApp For any query click here