याेगी की सरकार ,असुरक्षित हैं पत्रकार :संजय पाण्डेय

बलिया । भारतीय पत्रकार संघ तहसील इकाई रसड़ा ने पत्रकार रतन सिंह की हत्या पर शाेक सभा कर शाेक संवेदना व्यक्त की
। शाेकसभा की अध्यक्षता संघ के जिलाध्यक्ष संजय पाण्डेय ने की। पत्रकाराें ने दाे मिनट का माैन धारण कर ईश्वर से उनके परिवार काे इस दु:ख की घड़ी में संबल प्रदान करने की प्रार्थना की। जिलाध्यक्ष संजय पाण्डेय ने कहा कि याेगी सरकार में अपराध आैर अपराधियाें का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। इस सरकार में कानून व्यवस्था नाम की काेई चीज ही नहीं रह गयी है। ध्यानतब्य बात है कि याेगी राज में सबसे अधिक पत्रकाराें की हत्याएं हाे रही हैं जाे कि एक स्वस्थ समाज व एक स्वच्छ राष्ट्र के लिए बेहद ही अफसाेस का विषय है। लाेकतंत्र के चाैथे स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकाराें की आए दिन देश-प्रदेश में हत्याएं हाे रहीं हैं। अगर ऐसे ही लाेकतंत्र के स्तम्भ काे एक-एक करके दिन-प्रतिदिन गिराया गया ताे इस भारतवर्ष से लाेकतंत्र व्यवस्था ही समाप्त हाे जाएगा। सरकार एक तरफ अपराध मुक्त प्रदेश की बात करती है ताे दूसरे तरफ हाैशला बुलंद बदमाश अपने उपस्थिति का अपराध कर परिचय देते हैं। श्रीपाण्डेय ने कहा कि फेफना थाने के निकट की यह घटना पुलिस की कार्यशैली काे भी बयां करती है। मृतक पत्रकार रतन सिंह के हक में भारतीय पत्रकार संघ अन्तिम छाेर की लड़ाई लड़ेगा।
इसके बाद भारतीय पत्रकार संघ के रसड़ा तहसील अध्यक्ष के नेतृत्व में पत्रकाराें ने तहसील पहुंचकर उपजिलाधिकारी रसड़ा द्वारा मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ काे
मांग पत्र साैंपा। पत्रकाराें ने अपने मांग पत्र में उल्लेखन किया है कि पत्रकार रतन सिंह की हत्या बेहद निंदनीय है। हाैशला बुलंद बदमाशाें ने पत्रकार की गाेली मारकर हत्या कर दी है, जिससे पत्रकार समाज में शाेक -आक्राेश व्याप्त है। पत्रकाराें ने रतन सिंह के परिवार काे सीएम याेगी से पच्चास लाख रुपये आर्थिक मदद व परिवार के किसी एक व्यक्ति काे सरकारी नाैकरी देने की मांग की है। इसके साथ ही दाेषियाें काे कठाेर-से-कठाेर कानूनी सजा मिले ताकि भविष्य में फिर किसी का दु:साहस न हाे कि वाे अपराध करे।
इस माैके पर तहसील अध्यक्ष रवि आर्य, जिला उपाध्यक्ष तनवीर अहमद, संरक्षक संताेष सिंह, विनाेद शर्मा ,महामंत्री अखिलेश सैनी, काेषाध्यक्ष सुमित गुप्ता, आदित्य वर्मा, आशीष सिंह,शीबू श्रीवास्तव,अफजाल कुरैशी के साथ अन्य पत्रकार माैजूद रहे।

रिपोर्ट वरुण चौबे IBN News ब्यूरो बलिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp For any query click here